Coronavirus Update: Covid-19 से लड़ाई में असरदार साबित हुई 5300 रुपए की ये दवा

Coronavirus Update: नोवल कोरोनावायरस से दुनियाभर में अब तक 54 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं। जिसमें से करीब 22 लाख 47 हजार लोग ठीक हुए हैं। जबकि कोविड-19 से मौतों का आंकड़ा 3 लाख 44 हजार 19 हो गया है...

coronavirus Update: नोवल कोरोनावायरस से दुनियाभर में अब तक 54 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं। जिसमें से करीब 22 लाख 47 हजार लोग ठीक हुए हैं। जबकि कोविड-19 से मौतों का आंकड़ा 3 लाख 44 हजार 19 हो गया है। दुनियाभर के वैज्ञानिक कोरोनावायरस के लिए वैक्सीन बनाने के काम में जुटे हुए हैं। लेकिन अभी तक कोई सफलता हासिल नहीं हुई है। ऐसे में कोरोना वायरस से लड़ाई में एंटीवायरल ड्रग रेमडेसिवीर (Remdesivir) असरदार साबित हो रही है। अमेरिका में बड़े पैमाने पर हुए इसके क्लिनिकल ट्रायल के नतीजे उम्‍मीद जगाते हैं। कोरोना के जिन मरीजों को ऑक्‍सीजन थेरपी की जरूरत पड़ रही है, उनमें यह दवा रिकवरी को तेज कर रही है। इस ट्रायल को US के नैशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इन्‍फेक्शियस डिजीजेज (NIAID) ने फंड किया है। ट्रायल के नतीजे इतने अच्‍छे रहे कि ट्रायल चलते-चलते ही उसकी फाइंडिग्‍स को पब्लिश कर दिया गया है।

Remdesivir से रिकवरी में लगने वाला समय कम हुआ
द न्‍यू इंग्‍लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन (NEJM) के मुताबिक रिसर्चर्स ने ट्रायल जारी होने के बावजूद शुरुआती नतीजे जारी करने का फैसला किया। कोविड-19 मरीजों के इलाज में Remdesivir का 10 दिन का कोर्स प्‍लेसीबो से कहीं ज्‍यादा असरदार साबित हुआ। दोनों तरीकों से इलाज के बाद रिकवरी में लगने वाला समय Remdesivir में कम था। रिसर्चर्स के मुताबिक, उन्‍होंने यह डेटा इसलिए साझा किया ताकि ट्रायल के साथ-साथ बिना ट्रायल वाले मरीजों को भी Remdesivir से फायदा हो सके।

कॉम्बिनेशन असरदार
रिसर्चर्स ने पाया कि 14 दिन के आधार पर, प्‍लेसीबो ट्रीटमेंट का मार्टलिटी रेट 11.9 पर्सेंट रहा है, जबकि remdesivir के साथ मार्टलिटी रेट 7.1% रहा। हालांकि 7.1% की दर भी बहुत ज्‍यादा है जिसे लेकर रिसर्चर्स अपनी चिंता जाहिर कर चुके हैं। रिसर्चर्स ने कहा है कि शुरुआती रिपोर्ट्स के मुताबिक, "remdesivir उन मरीजों पर इस्‍तेमाल हो सकती है जो कोविड-19 से पीड़‍ित हैं और जिन्‍हें सप्‍लीमेंटल ऑक्‍सीजन थेरपी की जरूरत है। Remdesivir के यूज के बावजूद हाई मार्टलिटी रेट होना यह साफ करता है कि कोरोना के इलाज में केवल एंटीवायरल ड्रग से काम नहीं चलेगा।" रिसर्चर्स ने सुझाव दिया है कि थिरेपॉटिक अप्रोच के साथ एंटीवायरल एजेंट्स का असर देखना चाहिए। एंटीवायरल एजेंट्स के कॉम्बिनेशन भी ट्राई करके देख सकते हैं।

गौरतलब है कि यह दवा पहले इबोला वायरस के लिए भी यूज हो चुकी है। इसके अलावा मिडल ईस्‍ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (MERS) और सीवियर एक्‍यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (SARS) पर भी Remdesivir असरदार है। MERS और SARS भी कोविड-19 की तरह कोरोना वायरस से होने वाली बीमारियां हैं।

5300 रुपए है कीमत
ढाका में स्थापित Beximco ने जेनरिक रेमडेसिवीर को 6 हजार टका (5300 रुपए) में बेचने का फैसला किया है। मगर कोविड-19 मरीजों का इलाज कर रहे सरकारी अस्पतालों के लिए दवा मुफ्त में मिलेगी।

coronavirus
Show More
युवराज सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned