scriptचौंकाने वाला आंकड़ा: हर 3 में से 1 भारतीय को Fatty Liver रोग | One in Three Indians Suffer from Fatty Liver : Dr. Jitendra Singh | Patrika News
रोग और उपचार

चौंकाने वाला आंकड़ा: हर 3 में से 1 भारतीय को Fatty Liver रोग

Fatty Liver : भारत में हर तीसरे व्यक्ति को फैटी लीवर (Fatty Liver) की समस्या है, जो टाइप-2 डायबिटीज और अन्य मेटाबोलिक विकारों से पहले की अवस्था है

नई दिल्लीJul 05, 2024 / 05:07 pm

Manoj Kumar

Fatty Liver

Fatty Liver

भारत में हर तीसरे व्यक्ति को फैटी लीवर (Fatty Liver) की समस्या है, जो टाइप-2 डायबिटीज और अन्य मेटाबोलिक विकारों से पहले की अवस्था है, ऐसा कहना है केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. जितेंद्र सिंह का।

फैटी लीवर और मेटाबोलिक विकार

डॉ. जितेंद्र सिंह, जो एक प्रसिद्ध डायबेटोलॉजिस्ट हैं, ने बताया कि “गैर-अल्कोहलिक फैटी लीवर रोग (NAFLD) — एक आम मेटाबोलिक लीवर विकार — सिरोसिस और प्राथमिक लीवर कैंसर तक प्रगति कर सकता है। यह डायबिटीज, हाइपरटेंशन, हृदय रोग और कई अन्य बीमारियों से पहले होता है।”

इंडो-फ्रेंच लीवर और मेटाबोलिक डिजीज नेटवर्क का शुभारंभ

डॉ. जितेंद्र सिंह राष्ट्रीय राजधानी में लिवर और बिलियरी साइंसेज के संस्थान में इंडो-फ्रेंच लीवर और मेटाबोलिक डिजीज नेटवर्क (InFLiMeN) के शुभारंभ के अवसर पर बोल रहे थे। इस नेटवर्क में ग्यारह फ्रेंच और सत्रह भारतीय डॉक्टर संयुक्त रूप से काम करेंगे।

जीवनशैली और मेटाबोलिक सिंड्रोम का प्रभाव

उन्होंने कहा कि “जीवनशैली, आहार और विशेष रूप से मेटाबोलिक सिंड्रोम जैसे डायबिटीज और मोटापे में बदलावों के कारण भारतीय उपमहाद्वीप और यूरोप में NAFLD की घटनाओं में काफी वृद्धि हुई है।”

भारतीय और पश्चिमी संदर्भ में NAFLD

डॉ. सिंह ने बताया कि भारतीय उपमहाद्वीप में NAFLD लगभग 20 प्रतिशत गैर-मोटे रोगियों में होता है, जबकि पश्चिमी देशों में अधिकांश NAFLD मोटापे से जुड़ा होता है।

शराबी लीवर रोग का बोझ

उन्होंने यह भी बताया कि भारत और फ्रांस दोनों में “शराबी लीवर रोग (ALD) का काफी बोझ है।” उन्होंने समझाया कि NAFLD और ALD दोनों का प्रगति पथ बहुत समान है, जो स्टेटोसिस से स्टेटोहेपेटाइटिस, सिरोसिस, और HCC तक जाता है।

भारत की प्रगति

“भारत सिर्फ उपचारात्मक स्वास्थ्य सेवा में नहीं, बल्कि निवारक स्वास्थ्य सेवा में भी वैश्विक नेता बना,” डॉ. जितेंद्र सिंह ने पिछले दशक में भारत की प्रगति को उजागर करते हुए कहा।

भारत-विशिष्ट डायग्नोस्टिक्स की आवश्यकता

उन्होंने भारत-विशिष्ट डायग्नोस्टिक्स की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा, “हमारा फेनोटाइप अलग है, इसलिए हमें सरल, कम लागत वाली डायग्नोस्टिक परीक्षण विकसित करने की आवश्यकता है जो फैटी लीवर के विभिन्न चरणों का पता लगा सकें और उनकी गंभीर, पूर्ण विकसित बीमारियों तक की प्रगति को रोक सकें।”

Hindi News/ Health / Disease and Conditions / चौंकाने वाला आंकड़ा: हर 3 में से 1 भारतीय को Fatty Liver रोग

ट्रेंडिंग वीडियो