कुमार विश्वास ने फेसबुक लाइव कर मुख्यमंत्री को घेरा, आयोजकों पर दबाव डालने के लगाए आरोप

kamlesh sharma

Publish: Oct, 12 2017 09:16:02 (IST)

Dungarpur, Rajasthan, India
कुमार विश्वास ने फेसबुक लाइव कर मुख्यमंत्री को घेरा, आयोजकों पर दबाव डालने के लगाए आरोप

नगरपरिषद की ओर से चल रहे दीपावली मेले के कवि सम्मेलन में अंतिम समय में ख्यातनाम कवि कुमार विश्वास का नाम काटे जाने पर कुमार ने सीएम को घेरा।

डूंगरपुर। नगरपरिषद की ओर से चल रहे दीपावली मेले के कवि सम्मेलन में अंतिम समय में ख्यातनाम कवि कुमार विश्वास का नाम काटे जाने पर कुमार ने सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री को घेरा। कुमार ने गुरुवार शाम को फेसबुक पर लाइव किया। इसमें उन्होंने कहा कि कवि सम्मेलन के आयोजकों ने मुख्यमंत्री के दबाव में उनका नाम हटाया, जबकि मैं डूंगरपुर आने के लिए पूरी तैयारी कर चुका था, फ्लाइट भी बुक करा दी थी। कुमार के इस लाइव को कुछ ही देर में हजारों समर्थकों ने देखकर लाइक व शेयर किया तथा कमेंट्स किए।

फेसबुक पर सॉरी राजस्थान पोयट्री लवर्स... की टेग लाइन के साथ जारी वीडियो में कुमार ने कहा कि कुछ समय पहले डूंगरपुर से आयोजकों ने उदयपुर के कवि राव अजातशत्रु के माध्यम से संपर्क किया था। आर्थिक कारण बताने पर आधे मेहताने पर मैंने डूंगरपुर जाना स्वीकार किया। कार्ड छप गए, हॉर्डिंग्स भी लग गए। इस बीच राजस्थान की लोकतांत्रिक महारानी का कारवां गुजरा और उन्होंने मेरा नाम और फोटो देखा। आयोजकों तक संदेश भिजवाया कि यह व्यक्ति कवि सम्मेलन में नहीं आना चाहिए। आयोजकों ने भारी मन से मुझे सूचित किया।

महारानी आपको भ्रम है. . .
कुमार ने कहा कि महारानी को यह भ्रम है कि वह चुटकी बजाएंगी और कोई कवि उनके दरबार में कविताएं सुनाएगा और नाचेगा। उन्होंने कहा कि यह अहंकार छोड़ दीजिए, मैंने भी दो बार सरकारें बनाई हैं। उस सरकार की भी हिम्मत नहीं कि मुझसे उसके समर्थन में कविता लिखवा लें।

दोस्तों से क्षमा
कुमार ने अपने वीडियो में डंूगरपुर, सागवाड़ा, बांसवाड़ा और उदयपुर के श्रोताओं से क्षमा याचना करते हुए कहा कि आज की शाम आपके साथ बिताने का निर्णय लिया था, लेकिन लोकतांत्रिक महारानी के आदेश के कारण मैं नहीं आ पा रहा हूं, लेकिन यह कारवां रूकेगा नहीं। उन्होंने कहा कि जब भी डूंगरपुर बिना किसी राजसत्ता से डरे या दबाव के बुलाएंगे, मैं जरूर आऊंगा।

हजारों कमेंट्स, शेयर
फेसबुक पर वीडियो लाइव होते ही कुमार के प्रशंसकों और समर्थनों ने उसे हाथों हाथ लेते हुए सरकार व मुख्यमंत्री के खिलाफ कमेंट्स किए। कुछ घंटों में इस वीडियो को देखने और कमेंट्स करने वालों की संख्या हजारों में पहुंच गई।

टिप्पणी से इनकार
फेसबुक लाइव को लेकर सभापति के.के.गुप्ता से बात करने पर उन्होंने किसी प्रकार की टिप्पणी से इनकार कर दिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned