नोटबंदी के 32 महीने के बाद 15.31 लाख करोड़ रुपए के पुराने नोट चलन से वापस लौटे

नोटबंदी के 32 महीने के बाद 15.31 लाख करोड़ रुपए के पुराने नोट चलन से वापस लौटे

Saurabh Sharma | Publish: Jul, 16 2019 07:46:54 AM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

Union Minister of State for Finance Anurag Thakur ने जवाब देते हुए कि Demonetization के बाद से अब 15 लाख करोड़ से ज्यादा रुपए RBI के पास आ चुके हैं।

नई दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) द्वारा की की गई नोटबंदी ( Notebandi ) के 32 महीने गुजर जाने के बाद 15.31 लाख करोड़ रुपए मूल्य के नोट चलन से वापस आरबीआई ( rbi ) के पास आ गए हैं। वहीं दूसरी ओर सरकार ने संसद ने सकल कर्ज और सकल एनपीए के अनुपात के अलावा मौजूदा बाजार मूल्य के हिसाब से जीडीपी ( GDP ) की भी जानकारी दी। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर सरकार ने संसद में नोटबंदी, एनपीए और जीडीपी मूल्य के बारे में क्या बताया?

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today: पेट्रोल की कीमत में 6 पैसे का इजाफा, डीजल पर राहत जारी

इतने रुपए के वापस लौटे पुराने नोट
केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने जानकारी देते हुए कहा कि नोटबंदी के बाद आरबीआई के पास 15,31,073 करोड़ रुपए मूल्य के नोट आरबीआई के पास वापस आ गए हैं। आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने अचानक से 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी की घोषणा कर दी थी। इस घोषणा को 32 महीने हो चुके हैं। टेरर फंडिंग तथा मनी लॉन्ड्रिंग को झटका देने के लिए की गई इस नोटबंदी के तहत 500 रुपए और 1,000 रुपए के नोटों को चलन से बाहर कर दिया गया था। जिसके बाद सरकार 500 और 2,000 रुपए के नए नोट चलन में लेकर आई थी।

यह भी पढ़ेंः- एथनॉल फ्यूल के बारे कितना जानते हैं आप, जानें पेट्रोल-डीजल के इस विकल्प

जीडीपी का कितना एनपीए और कर्ज
आनुपात के आधार पर एनपीए और नोटबंदी के अंतिम समय से लेकर अब तक कुल जीडीपी का अनुपात 31 दिसंबर, 2016 को 9.20 फीसदी और 31 मार्च, 2019 को 9.08 फीसदी था। अनुराग ठाकुर ने यह जानकारी दूसरे सवाल के जवाब में दी। वहीं उन्होंने बताया कि मौजूदा बाजार मूल्य के हिसाब से बात करें तो जीडीपी साल 2016-17, 2017-18 तथा 2018-19 (अस्थायी अनुमान) में क्रमश: 1,53,62,386 करोड़ रुपए, 1,70,95,005 करोड़ रुपए तथा 1,90,10,164 करोड़ रुपए रहा।

 

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned