अमरीका ने चीन को दिया बर्थ डे गिफ्ट, आयात शुल्क को 15 दिन के लिए बढ़ाया

अमरीका ने चीन को दिया बर्थ डे गिफ्ट, आयात शुल्क को 15 दिन के लिए बढ़ाया

Saurabh Sharma | Publish: Sep, 12 2019 12:21:14 PM (IST) | Updated: Sep, 12 2019 12:21:15 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • एक अक्टूबर से लागू होना था चीनी वस्तुओं पर बढ़ाया हुआ आयात शुल्क
  • 250 अरब डॉलर के सामान पर 25 फीसदी से 30 फीसदी किया गया था शुल्क

नई दिल्ली। जहां एक ओर अमरीका और चीन के बीच ट्रेड वॉर की स्थिति दिन प्रतिदिन भयानक होती जा रही है। वहीं दूसरी ओर दोनों ही देश एक दूसरे की खुशियों में शामिल होते हुए भी दिखाई दे रहे हैं। दरियादिली दिखाने में भी गुरेज नहीं कर रहे हैं। ऐसी ही दरियादिली अमरीका की ओर से दिखाई गई है। अमरीका ने चीनी सामान के 250 अरब डॉलर के सामान पर आयात शुल्क बढ़ाने की तारीख को 15 दिन के लिए टाल दिया है। वास्तव में अमरीका की ओर से चीन को बर्थ डे गिफ्ट दिया गया है।

यह भी पढ़ेंः- पेट्रोल की कीमत में 6 पैसे और डीजल के दाम में 5 पैसे की बढ़ोतरी, जानिए अपने शहर में दाम

अमरीका की ओर से चीन को बर्थ डे गिफ्ट
अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन से आयातित वस्तुओं पर शुल्क लगाए जाने के प्रस्ताव को 15 दिन के लिए टाल दिया है। ट्रंप ने बुधवार की रात कहा कि उन्होंने 250 अरब डॉलर मूल्य के चीनी सामान पर एक अक्टूबर से आयात शुल्क बढ़ाने का प्रस्ताव किया था। इस समयसीमा को बढ़ाकर 15 अक्टूबर किया जाता है। राष्ट्रपति ने ट्विटर पर लिखा, ''चीन के उप-प्रधानमंत्री लिऊ ही के आग्रह और चीन के एक अक्टूबर को 70वीं वर्षगांठ मनाए जाने को देखते हुए हमने 250 अरब डॉलर मूल्य के आयातित सामान पर शुल्क 25 फीसदी से बढ़ाकर 30 प्रतिशत करने के प्रस्ताव को एक अक्टूबर के बजाए 15 अक्टूबर से लागू करने का निर्णय किया है।''

यह भी पढ़ेंः- ऑटोमोबाइल संकट पर वित्तमंत्री के बयान पर युवाओं ने कसे तंज, सोशल मीडिया पर खोला मोर्चा

दोनों देशों के बीच होगी बातचीत
उन्होंने इसे चीन के प्रति सौहार्दपूर्ण रख करार दिया है। बातचीत के लिए चीन के वरिष्ठ अधिकारी अक्टूबर की शुरूआत में यहां पहुंचेंगे। पिछले वर्ष से दोनों देश व्यापक व्यापार सौदे पर काम कर रहे हैं। इससे न केवल व्यापार संतुलन की समस्या दूर होगी बल्कि बौद्धिक संपदा की चोरी और चीन में अमरीकी कंपनियों को दबाए जाने की समस्या का भी समाधान होगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned