सरकार का रोजगार पर फोकस, आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का ऐलान

  • दो वर्षों के लिए लाई जा रही यह स्कीम एक अक्टूबर 2020 से प्रभावी होगी
  • फॉर्मल सेक्टर की करीब 65 फीसदी कंपनियां सकीम के तहत शामिल होंगी

By: Saurabh Sharma

Updated: 12 Nov 2020, 04:37 PM IST

नई दिल्ली। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने रोजगार के नए अवसर पैदा करने के लिए गुरुवार को एक नई स्कीम आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की घोषणा की। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से मिली आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए किए गए उपायों से अर्थव्यवस्था में सुधार के क्रम में रोजगार के नए अवसर पैदा करने के लिए नई स्कीम लांच की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः- सरकार का इकोनॉमिक बूस्टर डोज भी नहीं रोक सका बाजार में मुनाफा वसूली, सेंसेक्स निफ्टी गिरावट के साथ बंद

दो वर्षों के लिए होगी लागू
उन्होंने कहा कि दो वर्षों के लिए लाई जा रही यह स्कीम एक अक्टूबर 2020 से प्रभावी होगी। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत उन कंपनियों को शामिल किया जाएगा जिनमें कर्मचारियों की संख्या 1,000 या उससे कम हो। एक अनुमान के अनुसार, औपचारिक यानी फॉर्मल सेक्टर की करीब 65 फीसदी कंपनियां इस सकीम के तहत शामिल होंगी।

यह भी पढ़ेंः- केंद्र सरकार का इंडियन इकोनाॅमी को 2.65 लाख करोड़ रुपए का बूस्टर डोज

अर्थव्यवस्था में तेजी से हो रहा सुधार
वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को कहा अर्थव्यवस्था में तेजी के साथ सुधार देखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिजली की खपत में 12 फीसदी की वृद्धि हुई है और रोजाना रेलवे मालभाड़ा में पिछले साल से औसतन 20 फीसदी का इजाफा हुआ है, वहीं बैंक्र क्रेडिट ग्रोथ में भी 23 अक्टूबर 2020 तक सालाना आधार पर सुधार आया है। वित्तमंत्री ने कहा कि बाजार रिकॉर्ड उंचाई पर चला गया है और विदेशी पूंजी भंडार 560 अरब डॉलर पर चला गया है।

Nirmala Sitharaman
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned