IMF Report: भारत में चालू खाते का घाटा 2018-19 में बढ़कर 68 अरब डॉलर हुआ

IMF Report: भारत में चालू खाते का घाटा 2018-19 में बढ़कर 68 अरब डॉलर हुआ

Saurabh Sharma | Publish: Jul, 19 2019 05:57:59 AM (IST) | Updated: Jul, 19 2019 07:21:58 AM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

IMF की हालिया रिपोर्ट के अनुसार भारत में Current account deficit 2018-19 में बढ़कर 68 अरब डॉलर हो गया है।

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ( IMF ) के भारत के चालू खाते के घाटे को विकास की आवश्यकताओं के मद्देनजर तर्कसंगत बताया है। आईएमएफ के अनुसार, भारत का चालू खाते का घाटा ( current account deficit ) वित्त वर्ष 2018-19 ( fiscal year 2018-19 ) के दौरान पिछले साल के 49 अरब डॉलर से बढ़कर 68 अरब डॉलर हो गया।

आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ( geeta gopinath ) ने द्वारा जारी बाहरी क्षेत्र की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत के निवल विदेशी निवेश में थोड़ा सुधार हुआ है, जिससे घाटा 2017-18 के 438 अरब डॉलर से कम होकर 2018-19 में 431 अरब डॉलर रह गया।

यह भी पढ़ेंः- बजट से रूठा विदेशी निवेशक, मात्र 13 दिनों में बाजार से निकाले 4100 करोड़ रुपए

आईएमएफ के अनुसार, भारत की कुल विदेशी आरक्षित निधि हालांकि इस साल मार्च के आखिर में 411.9 अरब डॉलर रही, जोकि पिछले साल मार्च के आखिर की निधि से 12.5 अरब डॉलर कम है। रिपोर्ट में कहा गया कि आरक्षित निधि का स्तर विभिन्न मानदंडों की तुलना में एहतियाती उपायों के लिए पर्याप्त है।

यह भी पढ़ेंः- चेन्नई से मैनहटन तक लोगों को डोसा खिलाने वाले पी राजगोपाल की मौत, 3100 करोड़ रुपए का था साम्राज्य

आईएमएफ ने कहा, "भारत की निम्न प्रति व्यक्ति आय, अनुकूल विकास की संभावना, जनसांख्यिकी प्रवृत्तियां और विकास की आवश्यकताओं से चालू खाता घाटा का मौजूदा स्तर तर्कसंगत है।"

यह भी पढ़ेंः- अब तक सिर्फ 1.46 करोड़ लोगों ने भरा टैक्स रिटर्न, जानें किन लोगों पर सरकार लगाएगी जुर्माना

आपको बता दें कि एशियन डेवलपमेंट बैंक ने मौजूदा वित्त वर्ष के लिए देश की सकल घरेलू उत्पाद ग्रोथ रेट का अनुमान घटा दिया है। एशियन डेवलपमेंट बैंक द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार वित्त वर्ष 2019-20 में यह 7 फीसदी रह सकता है। फिस्कल शॉर्टफॉल की चिंताओं को देखते हुए एडीबी ने अपने पहले के अनुमान में कमी की है।


Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned