भारत के खिलाफ इमरान खान का बेतुका बयान, कहा-पाकिस्तान को करना चाहते हैं दिवालिया

भारत के खिलाफ इमरान खान का बेतुका बयान, कहा-पाकिस्तान को करना चाहते हैं दिवालिया

Saurabh Sharma | Updated: 16 Sep 2019, 12:53:00 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

इमरान खान ने कहा है कि भारत पाकिस्तान को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की ब्लैक लिस्ट में डलवाना चाहता है कि ताकि उन्हें किसी आर्थिक संस्था से मदद ना मिल सके।

नई दिल्ली। जब से जम्मू कश्मीर से भारत सरकार ने विशेष दर्जा खत्म किया है और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया है, तब से पाकिस्तान के तेवर तल्ख हो गए हैं। पाकिस्तानी नेता तो अब युद्घ की बात कर चुके हैं। वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान के पीएम की ओर से भी बेतुका बयान आया है। एक विदेशी मीडिया को इंटरव्यू के दौरान उन्होंने भारत पर आरोप लगाया है कि भारम पाकिस्तान को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दिवालिया घोषित कराने में जुटा हुआ है। साथ उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि भारत पाकिस्तान को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की ब्लैक लिस्ट में डलवाना चाहता है कि ताकि उन्हें किसी आर्थिक संस्था से मदद ना मिल सके। वहीं उन्होंने इस इंटरव्यू में युद्घ की संभावनाओं को भी नहीं नकारा है।

यह भी पढ़ेंः- सऊदी अरब के तेल ठिकानों पर हमलाः भारत में बढ़ सकती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें

पाकिस्तान को करना चाहता है दिवालिया
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने विदेशी मीडिया को इंटरव्यू देते हुए कहा कि भारत पाकिस्तान को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की ब्लैक लिस्ट में डलवाना चाहता है। अगर ऐसा होता है तो पाकिस्तान पर कई तरह के आर्थिक और भी प्रतिबंध लग जाएंगे। जिसकी वजह से भारत पाकिस्तान को दिवालिया करने के प्रयास में जुटा हुआ है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान चाहता था कि दोनों देश पड़ोसी होने के नाते प्यार और अमन से रहे, लेकिन भारत ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटाकर कई परेशानियां खड़ी कर दी हैं। जिसकी वजह से उन्हें भी अपने पांव खींचने पड़ रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः- सऊदी अरब की ऑयल फील्ड पर ड्रोन हमलों से शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 200 अंक फिसला

युद्घ की संभावना से नहीं किया इनकार
वहीं उन्होंने विदेशी मीडिया को दिए इंटरव्यू में दोनों देशों के बीच युद्घ की संभावनाओं से इनकार नहीं किया है। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि इसके लिए पाकिस्तान कभी पहल नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर मेरा मानना है कि भारत के साथ युद्ध एक संभावना हो सकती है। उन्होंने कहा कि वो अमनपसंद हैं और युद्घ के विरोधी भी है। युद्घ किसी भी समस्या का समाधान नहीं हो सकता है। इसके नतीजे काफी भयानत होते हैं। वहीं इस बात पर भी जोर देकर कहा कि अगर युद्घ होता है और हम हार रहे होंगे तो पाकिस्तान की आजादी के लिए अपनी आखिरी सांस तक युद्घ को जारी रखेंगे।

यह भी पढ़ेंः- प्राइवेट हाथों में जाएगा देश के पहला फाइव स्टार होटल अशोका

भारत के साथ व्यापारिक संबंध किए खत्म
भारत ने 5 अगस्त को संविधान के अनुच्छेद 370 को जम्मू-कश्मीर से अलग कर दिया था। जिसके बाद राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया था। जिसके बाद पाकिस्तान और भारत के बीच तनाव और बढ़ गया था। जिसके बाद इस्लामाबाद ने भारत के साथ व्यापारिक संबंध खत्म कर दिए थे। राजनयिक संबंध सीमित करने के साथ-साथ भारतीय उच्चायुक्त को वापस भेज दिया था। आपको बता देें कि मौजूदा समय में पाकिस्तान की वित्तीय हालत ठीक नहीं है। सब्जियों और पेट्रोल और डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। वहां तो दूध भी पेट्रोल और डीजल से भी महंगा मिल रहा है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned