ग्लोबल हंगर इंडेक्स में पाकिस्तान से भी पिछड़ा भारत, भुखमरी की हालत नाजुक

  • ग्लोबल हंगर इंडेक्स में पाकिस्तान और बांग्लादेश से नीचे आया भारत
  • भारत को 117 देशों की रैंकिंग में मिला है 102वां स्थान
  • बाल मृत्यु दर और कुपोषित बच्चों के मामलों में भी कोई सुधार नहीं

नई दिल्ली। ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत के लिए अच्छी खबर नहीं है। ग्लोबल हंगर ट्रैकिंग की रिपोर्ट के अनुसार भारत की रैंकिंग पाकिस्तान से ज्यादा खराब है। ताज्जुब की बात तो ये कि पाकिस्तान की इकोनॉमी और वहां की गरीबी के बारे में दुनिया भर के देशों में चर्चा आम है। लेकिन ग्लोबल हंगर इंडेक्स में जो आंकड़े सामने आए हैं वो वाकई चौंकाने वाले हैं। रिपोर्ट के अनुसार दक्षिण एशियाई देशों में भारत सबसे निचले पायदान पर है। यह कहना गलत नहीं होगा कि भूख मिटाने के मामले में भारत दुनियाभर के देशों में सबसे फिसड्डी साबित हुआ है।

भारत के आंकड़े सबसे खराब
मंगलवार ग्लोबल हंगर इंडेक्स की ताजा रिपोर्ट आई है। जिसमें भारत के लिए काफी चौंकाने वाले आंकडें सामने आए हैं। रिपोर्ट के अनुसार भारत दुनिया के उन 117 देशों में से 102वें नंबर पर आया है, जहां बच्चों का वजन उनकी लंबाई के अनुसार नहीं है। वहीं बाल मृत्यु दर ज्यादा होने के साथ कुपोषण के भी शिकार हैं। ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2019 के मुताबिक भारत में इन बच्चों का आंकड़ा करीब 20.8 फीसदी है। दुनिया में यह आंकड़ा भारत के बाद यमन एवं जिबूती का ही है। जिसे दुनिया में सबसे खराब कहा जाता है।

यह भी पढ़ेंः- 2000 रुपए के नोटों को लेकर बड़ा खुलासा, आईएमएफ ने भी दिया भारत को झटका, देखें वीडियो

भारत में सिर्फ इतने लोगों को मिल पाता है न्यूनतम भोजन
भारत के लिए ग्लोबल हंगर इंडेक्स में जो आंकड़ें आए हैं वो बहुत ही चिंताजनक है। ताज्जुब की बात तो ये है कि देश में 6 महीने से करीब 2 साल तक के बीच के करीब 9.6 फीसदी बच्चों को ही न्यूनतम आहार मिलता है। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा साल 2016-18 के बीच कराए गए एक सर्वे के आधार पर बताया है कि भारत में 35 फीसदी बच्चे छोटे कद के हैं। वहीं 17 फीसदी बच्चे कमजोर पाए गए।

यह भी पढ़ेंः- अच्छे ग्लोबल संकेतों से शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स में 147 अंकों की बढ़त, निफ्टी 46 अंक उछला

पाकिस्तान और बांग्लादेश की स्थिति भारत से बेहतर
ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत के मुकाबले पाकिस्तान और बांग्लादेश की स्थिति काफी बेहतर है। रिपोर्ट की मानें तो भारत एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होने के बाद भी ग्लोबल हंगर इंडेक्स में सबसे निचले पायदान पर मौजूद हैं। अगर बात पाकिस्तान की बात करें तो वो इस रैंकिंग में 94 पायदान पर आया है। जबकि 2018 में पाकिस्तान की रैकिंग 106 थी। वहीं बांग्लादेश 88, नेपाल 73 और श्रीलंका 66 पायदान पर मौजूद हैं। जो भारत के मुकाबले काफी बेहतर स्थिति में है।

यह भी पढ़ेंः- एक दिन की कटौती के बाद पेट्रोल और डीजल के दाम स्थिर, आज इतने चुकाने होंगे दाम

पांच सालों में भारत की हुई कमजोर स्थिति
अगर बीते पांच सालों की बात करें तो भूख मिटाने के मामले में भारत की स्थिति काफी खराब हुई है। आंकड़ों की मानें तो 2015 में भारत की रैंकिंग 95 थी। जो 2016 में गिरकर 97 पर आ गई। 2017 में यह स्थिति और भी बदतर हुई और आंकड़ा 100 पर आ गया। 2018 भारत 3 पायदान और खिसका और 103 रैंकिंग पर आ गया। 2019 में भारत को भले एक पायदान का फायदा हुआ हो, लेकिन पाकिस्तान को 12 पायदान फायदा हुआ और 94 रैंकिंग पर पहुंच गया।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned