2020 में 3.1 फीसदी तक गिर सकती है भारत की GDP : Moody’s

  • 3.1 फीसदी की आएगी गिरावट
  • भारतीय अर्थव्यवस्था में गिरावट आना तय
  • भारत-चीन हालात का भी पड़ेगा असर

By: Pragati Bajpai

Updated: 23 Jun 2020, 05:19 PM IST

नई दिल्ली: कोरोना की वजह से भारत ही नहीं पूरी दुनिया की आर्थिक हालत बेहद खराब है लेकिन भारत के सामने चीन की समस्या भी मुंह खोले खड़ी और इसका असर भी हमारी अर्थव्यवस्था पर पड़ेना तय है। क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ( International Credit Rating Agency Moody’s) ने दावा किया है कि 2020 में भारत की GDP में 3.1 फीसदी की गिरावट आ सकती है । इसके साथ ही एजेंसी ने भारत के नक्शे में बदलाव की आशंका भी व्यक्त की । एजेंसी moody's ने अपनी रिपोर्ट में चीन-भारत के बिगड़ते रिश्तों ( indo- china dispute ) की ओर इशारा करते हुए कहा है कि भारत की भौगोलिक स्थिति भी बदल सकती है और अंत में इसका असर भारत के आर्थिक हालात ( Indian economy ) पर पड़ेगा।

Home Loan Transfer का कर रहे हैं प्लान, तो इन बातों पर जरूर दें ध्यान

आपको बता दें कि इससे पहले अप्रैल में इसी एजेंसी ने भारत की GDP में 2020 में 0.2 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान व्यक्त किया था, लेकिन अब कोरोना और बॉर्डर पर बिगड़ते हालात की वजह से कंपनी ने अपने अनुमान में संसोधन व्यक्त किया है। हालांकि इसके साथ ही एजेंसी ने 2021 में अर्थव्यवस्था के तेजी से रफ्तार पकड़ने की बात भी कही है।

मूडीज का कहना है कि 2021 में भारतीय अर्थव्यवस्था ( Indian Economy ) 6.9 प्रतिशत की दर से वृद्धि दर्ज कर सकती है।

इसके साथ ही एजेंसी ने चीन की अर्थव्यवस्था ( Chinese economy ) पर भरोसा जताते हुए कहा है कि मूडीज ने अनुमान लगाया है कि चीन इस वर्ष वृद्धि दर्ज करने वाला एकमात्र जी-20 देश होगा। एजेंसी को उम्मीद है कि चीन 2020 में 1 फीसदी और इसके बाद 2021 में 7.1 फीसदी की मजबूत दर से वृद्धि करेगा।

Work from Home में कर्मचारियों पर पड़ रही है दोहरी मार, सैलेरी कटौती और टैक्स की मार एकसाथ

इसके साथ ही G-20 देशों की सामूहिक विकास की बात करें तो ये देस 4.6 फीसदी की दर से गिरावट का शिकार होगी और 2021 में 5.2 प्रतिशत की वृद्धि करेगी।

Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned