'Indian Economy को संकट से उबरने में लग सकता है 9 महीने तक का समय'

  • Covid 19 ने दुनिया को Business Transition के लिए Digital Practice को प्रेरित किया
  • Pandemic के दौर में देश का आज 93-94 फीसदी कर रहा काम Work From Home

By: Saurabh Sharma

Updated: 31 May 2020, 10:24 AM IST

नई दिल्ली। भारतीय उद्योग जगत ( Indian Industry ) के दिग्गजों का कहना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था ( Indian Economy ), महामारी ( Pandemic ) और सुपर चक्रवात ( Super Cyclone ) जैसे कई संकटों से अगले 6-9 महीनों में मजबूती के साथ उबर जाएगा। उद्योगपतियों की यह राय लोगों, व्यापार और सरकार द्वारा दिखाए गए लचीले रुख के आधार पर है। भारतीय उद्योग परिसंघ ( Confederation of Indian Industry ) द्वारा आयोजित एक वेबिनार में भारतीय अर्थव्यवस्था के सामने आने वाली चुनौतियों पर व्यापार जगत के दिगग्जों ने अपने विचार साझा किए। उन्होंने कहा कि दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी, जीवन और अर्थव्यवस्था ( Telecom and Information Technology, Life and Economy )को संकट से उबरने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

घर से काम कर रहा है 94 फीसदी वर्कफोर्स
टेक महिंद्रा में कॉर्पोरेट मामले के एपीएसी बिजनेस हेड और प्रेसीडेंड सुजीत बक्शी ने कहा कोविड-19 ने दुनिया को बिजनेस ट्रांजिशन के लिए डिजिटल प्रैक्टिस के लिए प्रेरित किया है। आईटी ने अर्थव्यवस्था की रीढ़ के रूप में इस संकट का तुरंत जवाब दिया, क्योंकि उद्योग तैयार था और डिजिटीकरण की दिशा में काम कर रहा था। उन्होंने कहा कि आज 93-94 फीसदी वर्कफोर्स घर से काम कर रहा है, इसे हम अपने उद्योग के लिए अवसर के तौर पर और काम करने के तरीके में बदलाव के तौर पर देखते हैं।

BOI और UBI Bank ने किया Home, Car और Personal Loan के Interest Rates को किया सस्ता

महामारी में टेलीकॉम इंडस्ट्री का महत्व बढ़ा
आईबीएम इंडिया, साउथ एशिया की वाइस प्रेसीडेंट (सेल्स) प्रतिवा मोहपात्रा के अनुसार, नेतृत्व, अनुशासन, संवेदना और टीमवर्क अधिक आवश्यक हो जाएंगे। उन्होंने कहा दूरसंचार उद्योग वर्तमान महामारी में तंत्रिका तंत्र और मांस और रक्त के रूप में उभरा है। सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) के महानिदेशक राजन मैथ्यूज ने कहा कि चुनौतियां भी दूरसंचार उद्योग को स्वदेशी रूप से महत्वपूर्ण समाधानों को इनोवेट करने और बनाने का अवसर प्रदान करती हैं, जो विश्व स्तर पर पहुंच सकती हैं।

आर्थिक संकट भारत के लिए अजीब
सीआईआई दिल्ली के चेरमैन आदित्य बर्लिया ने कहा हम उद्योग-उद्योग के आधार पर अर्थव्यवस्था में 5 से 15 प्रतिशत के संकुचन में प्रवेश कर रहे हैं और यह आर्थिक संकट भारत के लिए अजीब है क्योंकि हमने दशकों में ऐसा कुछ अनुभव नहीं किया है। बर्लिया ने कहा हम मानते हैं कि इस साल के अगले छह महीनों में कोविड-19 के कारण उतपन्न आर्थिक समस्याओं का हल होना शुरू हो जाएगा और फिर हम चीजों को आगे बढ़ते देखेंगे।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned