एक बार फिर भारत के सामने झुकी पाक सरकार, दवाइयों की कमी को देखते हुए आयात करने की दी मंजूरी

एक बार फिर भारत के सामने झुकी पाक सरकार, दवाइयों की कमी को देखते हुए आयात करने की दी मंजूरी

Shivani Sharma | Updated: 03 Sep 2019, 02:17:23 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • पाकिस्तान ने भारत संग बहाल किया आंशिक व्यापार
  • दवाइयों की कमी के कारण पाकिस्तान ने आयात करने की दी मंजूरी

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापार बंद करने का फैसला लिया था, लेकिन पाकिस्तान के इस फैसले से वहां की अर्थव्यवस्था हिल गई है। इसके साथ ही पाकिस्तान में महंगाई अपनी चरम सीमा पर पहुंच गई है। खाने के सामान के अलावा पाकिस्तान जीवनरक्षक दवाइयों के लिए भी भारत पर निर्भर है। दवाइयों की कमी को देखते हुए पाकिस्ताने ने भारत के साथ आंशिक व्यापार बहाल कर दिया है।


बहाल किया आंशिक व्यापार

आपको बता दें कि पाकिस्तान में हो रही दवाइयों की कमी को देखते हुए इमरान सरकार ने भारत के साथ व्यापार बहाल करने का फैसला लिया है। पाकिस्तान ने भारत से जीवनरक्षक दवाओं के आयात को मंजूरी दी है। फिलहाल अब पाकिस्तान भारत से दवाइयां और अपने कुछ जरुरी सामान को आयात करेगा।


ये भी पढ़ें: ऑटो सेक्टर बेहाल, लेकिन इस ऑटो कंपनी ने निवेशकों को किया मालामाल


पाकिस्तान के हालात हुए खराब

भारत के साथ व्यापार संबंध तोड़ने के फैसले से पाक सरकार खुद को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही पाकिस्तान में जीवनरक्षक दवाओं और अन्य जरूरी चीजों की कमी होने का खतरा पैदा हो गया था, जिसे देखते हुए पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापार बहाल करने का फैसला लिया।


भारत ये सामान करता है निर्यात

आपको बता दें कि पाकिस्तान भारत को ताजे फल, सीमेंट, खनिज और अयस्क, तैयार चमड़ा, प्रसंस्कृत खाद्य, अकार्बनिक रसायन, कच्चा कपास, मसाले, ऊन, रबड़ उत्पाद, अल्कोहल पेय, चिकित्सा उपकरण, समुद्री सामान, प्लास्टिक, डाई और खेल का सामान निर्यात करता था, जबकि भारत से निर्यात किए जाने वाले जिंसों में जैविक रसायन, कपास, प्लास्टिक उत्पाद, अनाज, चीनी, कॉफी, चाय, लौह और स्टील के सामान, दवा और तांबा आदि शामिल हैं।


ये भी पढ़ें: अमरीका और चीन के ट्रेड वॉर से बढ़ा भारत में शादियों का खर्च


सभी तरह की दवाइयों पर भारत पर निर्भर है पाक

पाकिस्तान भारत से बड़ी मात्रा में दवाइयां आयात करता है। व्यापार बंद करने के फैसले से इमरान सरकार को काफी नुकसान उठाना पड़ा। पाकिस्तान में इस समय दवाइयों की काफी कमी हो गई, जिसके बाद इमरान सरकार ने भारत के साथ व्यापार को बहाल करने की मंजूरी दे दी है। जीवन रक्षक दवाओं से लेकर सांप-कुत्ते के जहर से बचाने वाली दवाओं तक के लिए वह काफी हद तक भारत पर निर्भर है। जुलाई में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान ने 16 महीनों के दौरान भारत से 250 करोड़ रुपये से ज्यादा के रेबीजरोधी तथा विषरोधी टीकों की खरीदारी की थी।


2.4 अरब डॉलर का हुआ व्यापार

भारत और पाकिस्तान के बीच 2017-18 में महज 2.4 अरब डॉलर का व्यापार हुआ, जो भारत का दुनिया के साथ कुल व्यापार का महज 0.31 फीसदी है और पाकिस्तान के ग्लोबल ट्रेड का 3.2 फीसदी है। कुल द्विपक्षीय व्यापार में करीब 80 फीसदी हिस्सा पाकिस्तान में भारतीय निर्यात का है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned