PM किसान निधि के लिए शुरू होगा पंजीकरण, चुनाव आचार सहिंता की वजह से किया गया था बंद

  • पीएम किसान निधि के लिए एक बार फिर शुरू किया जाएगा रजिस्ट्रेशन।
  • आचार सहिंता के चलते लगी थी पीएम किसान निधि योजना पर रोक।
  • अभी भी कई गैर-भाजपा राज्यों ने नहीं लिया इस स्कीम के लिए हिस्सा।

By: Ashutosh Verma

Published: 31 May 2019, 05:54 PM IST

नई दिल्ली। चुनाव आचार संहिता की अवधि समाप्त होने के बाद अब एक बार फिर से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना ( PM Kisan Samman Nidhi Yojna ) के लिए किसानों का पंजीकरण शुरू होने जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार ने राज्यों से नए रजिस्ट्रेशन मांगे हैं। कृषि मंत्रालय ( Ministry of Agriculture ) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अब राज्य पोर्टल पर नए रजिस्ट्रेशन अपलोड करना शुरू करेंगे। हम अधिक लाभार्थियों तक तेजी से पहुंच सकेंगे। उन्होंने कहा कि डेटा में कई गड़बडिय़ां थीं।

यह भी पढ़ें - देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री बनीं निर्मला सीतारमण, जानिए JNU से लेकर नॉर्थ ब्लॉक तक का सफर

गैर-भाजपा वाले कुछ राज्यों ने अभी तक नहीं लिया हिस्सा

मंत्रालय ने बहुत से आवेदनों को दोबारा पुष्टि के लिए राज्यों को वापस भेजा है। राजस्थान, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे गैर-भाजपा सरकार वाले राज्यों ने अभी तक इस योजना में हिस्सा नहीं लिया है। अधिकारी का कहना है कि इन तीन राज्यों में बीजेपी ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। लिहाजा केंद्र का जोर इन तीन राज्यों के किसानों का इस योजना में पंजीकरण कराने पर रहेगा। बता दें कि लोकसभा चुनाव के लिए आचार संहिता 10 मार्च से लागू हुई थी। आचार संहिता के लागू होने के तुरंत बाद चुनाव आयोग ने कृषि मंत्रालय को इस योजना के लिए नए रजिस्ट्रेशन रोकने को कहा था।

यह भी पढ़ें - नई वित्त मंत्री के सामने हैं ये कड़ी चुनौतियां, जानिए कैसे देश की अर्थव्यवस्था को पार लगाएंगी निर्माला सीतारमण

उत्तर प्रदेश के 1.5 लाख किसान वंचित

पीएम-किसान योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के 1.5 लाख किसानों को अभी तक नहीं मिल पाया है। इसके पीछे का कारण कागजों में गड़बड़ी बताई जा रही है। इसलिए राज्य सरकार ने ऐसे किसानों का विवरण फिर से मंगाकर उसका मिलान करने का फैसला किया है। उसके बाद ही इन किसानों के खाते में पीएम-किसान सम्मान की पहली किस्त आएगी।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

Show More
Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned