मौसम और महंगाई का मायाजाल, दाल का हो गया बुरा हाल

मौसम और महंगाई का मायाजाल, दाल का हो गया बुरा हाल

Shivani Sharma | Publish: Jun, 02 2019 09:42:08 AM (IST) | Updated: Jun, 02 2019 02:16:37 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • देश में लगातर बढ़ती महंगाई को रोक पाना मोदी सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती है
  • हाल ही में मोदी ने अपने मंत्रिमंडल का गठन किया है
  • इस मंत्रिमंडल में लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख राम विलास पासवान को खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री का कार्यभार दिया गया है

नई दिल्ली। देश में लगातर बढ़ती महंगाई को रोक पाना मोदी सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती है क्योंकि पिछले कुछ दिनों से दाल के दाम आसमान छू रहे हैं। अभी कुछ दिन पहले अरहर दाल 100 रुपए के पार पहुंच गई है। इसके अलावा सब्जियों के भाव में भी बड़ा उछाल देखने को मिला है। इससे लोगों को दोहरे महंगाई का सामना करना पड़ रहा है। बता दें कि ऑनलाइन सुपर मार्केट बिग बास्केट में अरहर दाल 105 रुपए प्रति किलो हो गई है। इसके अलावा ग्रोफर्स और अन्य ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर भी दाल के दाम 100 रुपए के पार पहुंच गए हैं। वहीं, अगर हम किराना दुकानों पर भी अरहर दाल का भाव 95 रुपए से लेकर के 105 रुपए प्रति किलोग्राम के बीच चल रहा है। साल 2009 में भी अरहर दाल का भाव 100 रुपए किलो के पार गए थे। 2015 में पहली बार भाव 200 रुपए किलोग्राम के पार पहुंच गए थे।


म्यांमार के कारण बढ़े दाल के दाम

मौसम के कारण भी दाल के दामों में इतनी बढोतरी देखने को मिली है। इसके अलावा दाल की मांग बढ़ने से भी घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में अरहर दाल के दाम बढ़े हैं। इस साल मानसून सामान्य से कम रहने के आसार हैं, जिसका असर अनाज और दालों पर पड़ेगा। म्यांमार में अरहर की दाल जून में तैयार होती है। वहां से हमारे यहां बड़ी बड़े पैमाने पर दालें आयात होती हैं। म्यांमार में अरहर दाल के दाम बढ़े हैं, जिसके कारण सभी जगहों पर दाल के दाम बढ़ रहे है। भारत के अलावा म्यांमार और कुछ अफ्रीकी देशों में ही अरहर दाल पैदा होती है।

paswan

दामों में आ सकती है तेजी

आपको बता दें कि कुछ समय पहले दाल के दामों में गिरावट देखने को मिली थी, लेकिन इस समय दाल के दामों में बढ़ोतरी हो रही है और जानकारों का मानना है कि आने वाले समय में दाल के दामों में तेजी देखने को मिलेगी। आईएमडी और स्काईमेट के जानकारों की मानें तो इस बार मौसम के कारण अनाज और दाल के दामों में लगातार तेजी देखने को मिल सकती है। इसके अलावा चना, उड़द और तुअर दाल के उत्पादन में भी गिरावट देखने को मिल रही है, जिसका असर भी दाल की कीमतों पर पड़ेगा।


ये भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में जनता को मिली राहत, जानिए अपने शहर के दाम

 

रामविलास पासवान को मिला खाद्य एवं उपभोक्ता मंत्रालय

हाल ही में मोदी ने अपने मंत्रिमंडल का गठन किया है, जिसके बाद लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख राम विलास पासवान को खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री का कार्यभार दिया गया है, जिसेक बाद उन्होंने कहा है कि वह मंत्रालय की 100 दिन की कार्ययोजना के साथ उसे लागू करने के लिए तैयार हैं। बता दें कि पासवान ने शुरुआती 100 दिनों में 16 लाख टन दाल और 50,000 टन प्याज के भंडारण के लिए जरूरी कदम उठाने का लक्ष्य रखा है क्योंकि उन्होंने कहा है कि हम नहीं चाहते हैं कि दाल की कीमतों में बढ़ोतरी हो और देश की आम जनता को महंगाई की मार सहनी पड़े।

100 दिन में दाल की कीमतों में आएगी कमी

मोदी के लगातार दूसरे बार प्रधानमंत्री बनने के बाद पासवान ने कहा कि उनके नेतृत्व में भारत दुनिया में एक शक्तिशाली देश बनेगा। पासवान बिहार में राजग के सहयोगी हैं और उन्हें मोदी सरकार में दोबारा मंत्री बनाया गया है। इसके साथ ही पासवान ने कहा कि हाल में तूर दाल की कीमतों में उछाल देखने को मिला था, जिसका कारण उत्पादन था। देश में खपत के मुकाबले दाल का कम उत्पादन होता है। इसलिए कीमतों में बढ़ोतरी होने लगती है, लेकिन उनके 100 दिन के प्लान से दाल की कीमतों में जरूर गिरावट आएगी।


ये भी पढ़ें: मोदी सरकार ने पहली कैबिनेट बैठक में किसानों को किया खुश, अब से सभी के खाते में आएंगे 6,000 रुपए

pulses

IPGA के अनुसार

इंडियन पल्सेज एंड ग्रेन्स एसोसिएशन (IPGA) की मैनेजिंग कमेटी के सचिव सुनील रामजी सावला ने जानकारी देते हुए बताया कि किसान उत्पादन में कमी आने के कारण दान की कीमतों में उछाल देखने को मिल सकता है। एंजेल ब्रोकिंग (रिसर्च, कमोडिटी एंड करंसी) के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता के मुताबिक तुअर दाल के भाव अगले दो महीने में 6000 रुपए प्रति कुंतल के स्तर को पार कर सकते हैं। अजय केडिया के मुताबिक तुअर की कीमतों पर रुपए में गिरावट का भी असर दिख सकता है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned