एसएंडपी ने चलाई भारत की GDP के अनुमान पर कैंची, 1.8 फीसदी विकास दर रहने के आसार

  • एजेंसी के अनुमान के अनुसार वित्त वर्ष 2021-22 में बढ़कर 7.5 फीसदी रहने के आसार
  • एसऐंडपी ने 2020-21 के लिए भारत की वृद्धि दर का अनुमान 3.5 फीसदी कर दिया था

By: Saurabh Sharma

Updated: 18 Apr 2020, 12:12 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर की रेंटिंग एजेंसी ने भारत की विकास दर अनुमान को वित्त वर्ष 2020-21 के अनुमान को कम कर दिया है। अब इस लिस्ट में एक और नाम जुड़ गया है। क्रेडिट रेटिंग एजेंसी एसएंडपी ग्लोबल रेटिंग्स भारत के जीडीपी अनुमान 1.8 फीसदी कर दिया है। वहीं एजेंसी ने वित्त वर्ष 2021-22 में जीडीपी में सुधार की उम्मीद जताई है। एजेंसी के अनुसार भारत की जीडीपी 7.5 फीसदी का अनुमान जताया है। आइए आपको भी बताते हैं कि एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में क्या कहा है?

यह भी पढ़ेंः- आरबीआई की डिविडेंड पर रोक से होगा निवेशकों के मुनाफे पर असर

एजेंसी ने पहले भी घटाया जीडीपी अनुमान
ग्लोबल रेटिंग एजेंसी एसएंडपी ने इससे पहले भी भारत की जीडीपी के अनुमान को कर दिया था। आंकड़ों के अनुसार एजेंसी ने भारत की जीडीपी दर के अनुमान को 5.2 फीसदी से 3.5 फीसदी तक लेकर आई थी। एजेंसी के अनुसार कंयूनिटी ट्रांजिशन फस्र्ट फेज मार्च में चीन में अपने पीक पर था। इस क्षेत्र की अधिकांश अन्य अर्थव्यवस्थाओं में यह अप्रैल में पीक प्वाइंट पर रहेगा। भारत और इंडोनेशिया जैसी अर्थव्यवस्थाओं में कोरोना वायरस के मामलों का उच्चतम स्तर कुछ देर से तीसरी तिमाही की शुरुआत में सामने आने के अनुमान हैं।

यह भी पढ़ेंः- करोड़ों लोगों के लिए मसीहा बना बना डाक विभाग, इस तरह बचा रहा है जिंदगी

एशिया पैसिफिक की रहेगी 0.3 फीसदी विकास दर
वहीं एजेंसी ने एशिया पैसिफिक इलाके के जीडीपी अनुमान का भी आंकलन किया है। उनके अनुसार इस एरिया में विकास 0.3 फीसदी रहने के आसार हैं। एजेंसी की मानें तो चीन की वृद्धि दर 1.2 फीसदी देखने को मिल सकती है। वहीं जापान की इकोनॉमी में 3.6 फीसदी की गिरावट देखने को मिल सकती है।

यह भी पढ़ेंः- सालाना 27 हजार रुपए के प्रीमियम के आपके जीवन में आनंद भर देगी एलआईसी की पॉलिसी

फिच और आईएमएफ जैसी एजेंसियां भी कम कर चुकी हैं अनुमान
वहीं एसएंडपी से पहले फिच और आईएमएफ जैसी एजेंसियां भी जीडीपी अनुमान को कम कर चुकी हैं। फिच के अनुसार चालू वित्त वर्ष में भारत का जीडीपी अनुमान कम कर दो फीसदी कर दिया है। वहीं बात आईएमफ की करें तो उसने भी भारत की जीडीपी का अनुमान 1.9 फीसदी रहने का अनुमान लगाया गया है। वहीं वल्र्ड बैंक ने भारत की जीडीपी अनुमान 1.5 फीसदी से 2.8 फीसदी रहने का अनुमान दिखाया है।

coronavirus
Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned