scriptShock to government, manufacturing sector falls below a decade high | सरकार को झटका, एक दशक के उच्चतम स्तर से नीचे आया मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर | Patrika News

सरकार को झटका, एक दशक के उच्चतम स्तर से नीचे आया मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर

  • नवंबर में कोविड-19 से संबंधित प्रतिबंधों के कारण धीमी गति से प्रवाह दर्ज
  • आईएचएस मार्किट इंडिया का विनिर्माण पीएमआई नवंबर में घटकर 56.3 पर

नई दिल्ली

Published: December 02, 2020 08:57:36 am

नई दिल्ली। भारत की विनिर्माण गतिविधियों में वृद्धि की रफ्तार कम हुई है। देश के विनिर्माण (मैन्युफैक्चरिंग) क्षेत्र में नवंबर में कोविड-19 से संबंधित प्रतिबंधों के कारण धीमी गति से प्रवाह दर्ज किया है। अक्टूबर के दौरान एक दशक में स्वास्थ्य के क्षेत्र में सबसे मजबूत सुधार दर्ज किए जाने के बाद आईएचएस मार्किट इंडिया का विनिर्माण खरीद प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) नवंबर में घटकर 56.3 रह गया, जो अक्टूबर में 58.9 था।

Shock to government, manufacturing sector falls below a decade high
Shock to government, manufacturing sector falls below a decade high

यह भी पढ़ेंः- पेट्रोल और डीजल की कीमत में आग, आज इतना हो गया है इजाफा

बीते तीन महीनों में सबसे कम नए ऑर्डर
रिपोर्ट के अनुसार, नवंबर में नए ऑर्डरों की वृद्धि की रफ्तार तीन माह में सबसे कम रही है। विनिर्माण पीएमआई की रिपोर्ट में कहा गया कि नए ऑर्डर तीन महीने में सबसे धीमी गति से बढ़े। निर्यात के संदर्भ में नए ऑर्डर नवंबर में उल्लेखनीय रूप से बढ़े, सर्वेक्षण के प्रतिभागियों ने प्रमुख निर्यात बाजारों से अपने माल की मजबूत मांग की रिपोर्ट की। यह आंकड़ा अक्टूबर के करीब एक दशक के उच्चस्तर के बाद कुछ नीचे आया है। रिपोर्ट के अनुसार, तीन महीने में कच्चे माल या इनपुट खरीद की मात्रा सबसे धीमी गति से बढ़ी।

यह भी पढ़ेंः- सरकार को बड़ी राहत, लगातार दूसरे महीने जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपए के पार

जीएसटी के आंकड़ों में राहत
वहीं दूसरी ओर नवंबर के महीने में जीएसटी के आंकड़ों में सरकार को राहत मिली है। सकल जीएसटी राजस्व संग्रह लगभग 1.05 लाख करोड़ रुपए रहा। एक आधिकारिक बयान में मंगलवार को यह जानकारी दी गई। नवंबर 2020 में राजस्व पिछले साल के इसी महीने में जीएसटी राजस्व से 1.4 प्रतिशत अधिक है। महीने के दौरान, पिछले साल प्राप्त राजस्व के मुकाबले, सामानों के आयात से राजस्व 4.9 प्रतिशत अधिक प्राप्त हुआ और सेवाओं के आयात सहित घरेलू लेनदेन से राजस्व 0.5 प्रतिशत अधिक प्राप्त हुआ। कुल माल और सेवा कर में 19,189 करोड़ रुपये का केंद्रीय जीएसटी (सीजीएसटी), 25,540 करोड़ रुपये का राज्य जीएसटी (एसजीएसटी) और 51,992 करोड़ रुपये का एकीकृत जीएसटी (आईजीएसटी) प्राप्त हुआ।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

जम्मू-कश्मीर: पिछले 8 घंटे में उधमपुर में 2 संदिग्ध धमाका, आतंकी साजिश की आशंका, जांच जारीआज से 2 दिन के गुजरात दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी, 29 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं की देंगे सौगातNew CDS: रिटायर्ड ले. जनरल अनिल चौहान को मिली CDS की कमान, अजीत डोभाल के करीबी और आतंकवाद पर लगाम लगाने में हैं माहिरहाई कोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव आज, इन दिग्गजों में होगी टक्करमहंगी हुई मिठाइयां, कीमतों में 5 प्रतिशत की तेजीसरकारी कर्मचारियों का गहलोत सरकार ने बढ़ाया डीए, दिवाली से पहले बड़ा तोहफापद्मश्री राम सुतार बनाएगें अयोध्या में लगाने वाली विश्व की सबसे ऊंची श्री राम की मूर्ति.....जाने कब होगा स्थापितबारिश से जर्जर मकान, ले डूबा चार मासूमों की जान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.