Education Loan: बैंक से एजुकेशन लोन लेने से पहले रखें इस बात का ध्यान, वरना होगा नुकसान

 

Education Loan: एजुकेशन लोन लेकर पढ़ाई करने वाले छात्रों को चाहिए कि वो ऋण लेने से पहले ब्याज दर चेक कर लें। ऐसा कर उम्मीदवार न्यूनतम ब्याज दर पर लोन हासिल कर सकते हैं।

By: Dhirendra

Updated: 22 Aug 2021, 10:18 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के बीच शैक्षिक सत्र 2021-22 के लिए प्रवेश की प्रक्रिया चरम पर है। इंजीनियरिंग, मेडिकल, प्रबंधन सहित अन्य पाठ्यक्रमों में एडमिशन के लिए जरूरी एग्जाम शेड्यूल जारी हो चुके हैं। सितंबर से नवंबर 2021 के बीच विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रक्रिया संपन्न होने की संभावना है। यही वजह है कि एजुकेशन लोन ( Education Loan ) की मांग भी इस दिनों काफी है। लेकिन एजुकेशन लोन वाले उम्मीदवारों को चाहिए कि ऐसा करने से पहले वो विभिन्न बैंकों के इंटरेस्ट रेट ( Interest Rate ) को गंभीरता पूर्वक चेक कर लें। ऐसा न करने पर आपको ज्यादा ब्याज देना पड़ सकता है।

State Bank of India

एसबीआई ( SBI ) अपने ग्राहकों को एजुकेशन के लिए 1.5 करोड़ रुपए तक की ऋण राशि जारी करता है। इस ऋण पर ब्याज दर 6.85 प्रतिशत से 8.65 प्रतिशत तक की हो सकती है। बैंक दस हजार रुपए प्रोसेसिंग फीस के रूप में भी वसूलता हैं एसबीआई छात्राओं को रियायती दरों पर 20 लाख रुपए तक का ऋण भी दे सकता है। लोन की अवधि 15 साल तक और कोलैटरल 7.5 लाख तक हो सकती है। कोर्स पूरा होने के 12 महीने बाद लोन मोराटोरियम की अवधि होती है।

Read More: UGC Scholarship: यूजीसी ने की पीजी छात्रों के लिए 1000 स्कॉलरशिप देने की घोषणा, हर माह मिलेगा 7800 रुपए

Bank Of India

बीओआई ( BOI ) से भारत में अध्ययन करने वाले छात्रों को 10 लाख रुपए तक का शिक्षा ऋण जारी करता है। जबकि जो लोग विदेश जाना चाहते हैं उन्हें उच्च शिक्षा के लिए 20 लाख रुपए तक का ऋण मिल सकता है। लोन पर लगने वाली ब्याज दर 6.85 से लेकर 9.35 फीसदी तक हो सकती है।

Punjab National Bank

पंजाब नेशनल बैंक ( PNB ) योग्य उम्मीदवारों से लोन देने के बदले 6.90 प्रतिशत से 9.55 प्रतिशत वार्षिक ब्याज लेता है। इसके अलावा पीएनबी की प्रोसेसिंग फीस एक प्रतिशत है। पीएनबी एजुकेशन लोन के रूप में अधिकतम 15 लाख रुपए जारी करता है। लोन चुकाने की अवधि 15 वर्ष है। पाठ्यक्रम पूरा होने के बाद 6 महीने से 1 वर्ष के भीतर ईएमआई चालू हो जाता है।

Read More: JEE Advance क्रैक किए बिना आईआईटी में ऐसे पाएं प्रवेश

Bank of Baroda

वहीं बैंक ऑफ बड़ौदा ( Bank of Baroda ) से लोन लेने के इच्छुक उम्मीदवादों को एजुकेशन लोन पर 6.75 प्रतिशत से 9.85 प्रतिशत की ब्याज दर देना पड़ सकता है। प्रोसेसिंग शुल्क शून्य भी हो सकता है। या फिर लोन की राशि के हिसाब से अधिकतम 10 हजार रुपए हो सकता है। लोन चुकाने की अवधि 10 से 15 वर्ष है। बीओबी नर्सरी स्कूल से लेकर हायर एजुकेशन तक के लिए लोन जारी करता है। छात्राओं को ब्याज दरों में भी विशेष रियायत की भी व्यवस्था है।

Union Bank of India

यूबीआई ( UBI ) जरूरत के हिसाब से छात्रों को ऋण जारी करता है। बैंक ब्याज दर के रूप में लोन लेने वाले से 8.80 प्रतिशत से 10.05 प्रतिशत लेता है। भारतीय छात्रों के लिए प्रोसेसिंग फीस शून्य है। एनआरआई छात्रों के लिए प्रोसेसिंग शुल्क ऋण राशि का 0.50 प्रतिशत है। एनआरआई छात्रों के लिए प्रीमियम संस्थानों के लिए अधिकतम राशि 20 लाख रुपए से 30 लाख रुपए है। ऋण की अवधि 15 वर्ष तक होगी। छात्रों को चाहित कि वो एजुकेशन लोन लेने से पहले अन्य बैंकों की ओर से लिया जाने वाला इंटरेस्ट रेट भी चेक कर लें।

Read More: Government Jobs: 8वीं से ग्रेजुएट पास युवाओं के लिए विभिन्न विभागों में निकली सैकड़ों पदों पर भर्तियां, फटाफट करें अप्लाई

Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned