UGC Scholarship: यूजीसी ने की पीजी छात्रों के लिए 1000 स्कॉलरशिप देने की घोषणा, हर माह मिलेगा 7800 रुपए

 

UGC Scholarship: विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ( UGC ) ने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के स्नातकोत्तर में पढ़ने वाले 1000 छात्रों को स्कॉलरशिप देने की घोषणा की है। स्कॉलरशिप के लिए छात्रों का चयन मेरिट के आधार पर होगा। छात्रवृत्ति राशि का भुगतान डीबीटी मोड के माध्यम से किया जाएगा।

By: Dhirendra

Updated: 20 Aug 2021, 06:53 PM IST

UGC Scholarship: विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ( UGC ) ने पीजी यानि स्नातकोत्तर के 1000 छात्रों को स्कॉलरशिप देने की घोषणा की है। यह योजना समाज के वंचित वर्ग के उम्मीदवारों की सामाजिक पृष्ठभूमि को ध्यान में रखते हुए शुरू की गई है। भारतीय विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी, प्रबंधन, फार्मेसी, और ऐसी अन्य डिग्री जैसे पेशेवर विषयों में स्नातकोत्तर स्तर की पढ़ाई करने वाले छात्र यूजीसी की इस स्कॉलरशिप योजना ( Scholarship Scheme ) का लाभ उठा सकते हैं। पीजी की पढ़ाई करने वाले अनुसूचित जाति ( SC ) और अनुसूचित जनजाति ( ST ) के छात्र स्कॉलरशिप के आवेदन कर सकते हैं।

एमई या एमटेक के तहत पीजी छात्रवृत्ति के पुरस्कार के लिए चुने गए उम्मीदवारों को पीजी छात्रवृत्ति की अवधि के लिए प्रति माह 7800 रुपए की छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। हालांकि, अन्य पाठ्यक्रमों के लिए छात्रवृत्ति की राशि 4500 रुपए प्रति माह का भुगतान किया जाएगा। चयन वर्ष के दौरान स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष के पाठ्यक्रम में शामिल होने की तारीख से पुरस्कार प्राप्त करने वाले को छात्रवृत्ति का भुगतान किया जाएगा।

Read More: NEET MDS 2021: काउंसलिंग प्रक्रिया आज से शुरू, किन डॉक्यूमेंट्स की होगी जरूरत, जानिए कैसे करें आवेदन

आवेदन करने से पहले जान लें ये जरूरी बातें

यूजीसी ( UGC ) की स्कॉलरशिप योजना का लाभ उठाने के लिए उम्मीदवारों को मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों, संस्थानों या कॉलेजों में नामांकित होना चाहिए। एमए, एमएससी, एमकॉम, एमएसडब्ल्यू और मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म की डिग्री हासिल करने वाले छात्रों के आवेदन गैर व्यावसायिक पाठ्यक्रम के रूप में स्वीकार की जाएगी। पत्राचार या दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से व्यावसायिक विषयों में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम करने वाले छात्रों को इस स्कॉलरशिप के लिए योग्य नहीं माना जाएगा। यूजीसी की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक पुरस्कार का कार्यकाल स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम के कार्यकाल के आधार पर दो या तीन साल के लिए होगा। न कि अध्ययन की विस्तारित अवधि तक के लिए। चयनित छात्रों को यूजीसी छात्रवृत्ति राशि का भुगतान डीबीटी मोड के माध्यम से किया जाएगा। अगली कक्षा या स्तर पर पदोन्नत होने में विफल रहने वाले छात्रों की छात्रवृत्ति जब्त कर ली जाएगी।

Read More: No Claim Bonus: कम प्रीमियम में बढ़ाना चाहते हैं स्वास्थ्य बीमा कवरेज तो नो क्लेम बोनस का उठाएं लाभ

Read More: 2025 तक सभी घरों में लगेंगे प्रीपेड स्मार्ट मीटर, शहरी क्षेत्रों में पहले मीटर लगाने पर जो

कैसे करें आवेदन

इच्छुक और योग्य उम्मीदवार 30 नवंबर 2021 तक या उससे पहले राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल ( NSP ) पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। संस्थागत स्तर पर सत्यापन से संबंधित कमियों को दूर करने के लिए 15 दिसंबर 2021 तक पोर्टल पर विंडो ओपन रहेगा। उम्मीदवार आवेदन पत्र और जरूरी दस्तावेज अपने संस्थान से सत्यापित कराने के बाद ही जमा करें।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned