Assam Assembly Elections 2021: छात्र से राहुल ने पूछा कभी सीएम को ऐसे बात करते हुए देखा, मिला ये दिलचस्प जवाब

Assam Assembly Elections 2021 के बीच राहुल गांधी ने डिब्रूगढ़ के लाहोवाल में छात्रों से की बातचीत

By: धीरज शर्मा

Published: 19 Mar 2021, 12:25 PM IST

नई दिल्ली। असम विधानसभा चुनाव ( Assam Assembly Elections 2021) का रण जीतने के लिए कांग्रेस ने अपने प्रचार को धार देना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी दो दिवसीय दौरे पर असम पहुंचे। अपने दौरे की शुरुआत उन्होंने युवाओं से बातचीत के साथ की। शुक्रवार को राहुल गांधी डिब्रूगढ़ के लाहोवल पहुंचे। जहां उन्होंने कॉलेज छात्रों से बातचीत की।

बताचीत में राहुल गांधी ने छात्रों के सवालों के जवाब भी दिए। और सवाल भी किए। उन्होंने पूछा - क्या आपने अपनी मुख्यमंत्री को ऐसे स्टूडेंट के बीच सवाल पूछते देखा है, स्टूडेंट्स ने दिलचस्प जवाब दिया और कहा कि उनकी हिम्मत नहीं है।

यह भी पढ़ेँः Assam Assembly Elections 2021: बीजेपी को सता रहा डर! सीएम ने राहुल की रैली से पहले साझा किया ये खास वीडियो

राहुल ने छात्रों से बातचीत में कहा- डेमोक्रेसी का मतलब यह है कि जो सवाल आए उसका जवाब दो। कॉन्फिडेंस की जरूरत है, कभी पीएम को देखा है इस तरह बातचीत करते हुए। अगर देश के भविष्य से प्रधानमंत्री से दिल खोलकर बात नहीं कर सकता है तो कोई ना कोई तो कमी होगी।

राहुल ने कहा- देश में युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा, किसानों का आंदोलन, सीएए लागू करने की जिद।
अगर हम असम के लोगों से कहेंगे कि तुम दिल्ली जाओगे तो अपनी भाषा में नहीं बोल पाओगे। जिस दिन ये कह दिया जाएगा तो उस दिन हिंदुस्तान खत्म होगा।

राहुल ने आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा कि- नागपुर से पूरे देश को नियंत्रित करने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने पीएम मोदी के अडाणी प्रेम पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि देश की मौजूदा सरकार ने 2 हजार करोड़ रुपए असम के एयरपोर्ट को बनाने के लिए दिए। फिर उसी एयरपोर्ट को दिल्ली की सरकार ने अडाणी को पकड़ा दिया। अगर उन्हीं को एयरपोर्ट देना था, तो फिर प्रदेश सरकार को 2000 करोड़ क्यों दिए।

राहुल ने बताया हमारी सरकार ने असम को प्रोटेक्शन दिया। हजारों करोड़ रुपए का स्पेशल पैकेज। कोई भी यहां विनियोग करना चाहता था तो उसे सब्सिडी देते थे।

यह भी पढ़ेँः Assam Assembly Elections 2021: राहुल और प्रियंका चार दिन करेंगे ताबड़तोड़ रैलियां, जानिए कांग्रेस के लिए क्यों है अहम

प्यार से लड़ना होगी अधिकारों की जंग
ज्यादा से ज्यादा युवाओं को राजनीति में आना चाहिए, जहां भी आपको लगता है असम के लिए कुछ अलग हो रहा है उसके लिए लड़ना पड़ेगा। पत्थरों से नहीं, लाठियों से नहीं मगर प्यार से।

एक छात्र ने सवाल पूछा जब हमें जरूरत होती है तो प्रधानमंत्री यहां नहीं आते। राहुल ने जवाब में कहा जब बाढ़ आती है आप पीएम को कुछ दे नहीं सकते, इसलिए वो नहीं आते, लेकिन जब वोट की जरूरत होती है तो वो यहां आते। बात को समझें, उनके आने और ना आने का।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned