West Bengal Assembly Election Results 2021: प्रशांत किशोर का दावा हुआ सच, फिर भी अपने काम से संन्यास लेने का किया ऐलान

West Bengal Assembly Election Results 2021: प्रशांत किशोर ने अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए कहा कि अब तक लोग उन्हें रोल में देखते रहे हैं, पर अब वे उसे निभाएंगे।

By: Anil Kumar

Updated: 02 May 2021, 05:59 PM IST

कोलकाता। West Bengal Assembly Election Results 2021: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के परिणाम अब तय हो चुके हैं। तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने प्रचंड बहुमत के साथ जीत दर्ज की। वहीं, भाजपा ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए 80 के करीब सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं। वहीं, टीएमसी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर का दावा सच साबित हो गया है। प्रशांत किशोर ने चुनाव से पहले दावा किया था कि भाजपा 100 सीट पार नहीं कर पाएगी। यदि ऐसा हो जाता है तो वे अपने काम से संन्यास ले लेंगे। यानी कि वे चुनावी रणनीतिकार के तौर पर कभी काम नहीं करेंगे।

लेकिन अब जब प्रशांत किशोर (पीके) का दावा सच साबित हो गया है और भाजपा 100 सीट पार करती हुई नहीं दिखाई दे रही है, इसके बावजूद उन्होंने एक बड़ा ऐलान कर दिया है। पीके ने ऐलान किया है कि वे अब चुनावी रणनीतिकार यानी चुनाव प्रबंधन का काम नहीं करेंगे। प्रशांत किशोर ने एक टीवी चैनल पर लाइव शो के दौरान इसकी घोषणा की।

यह भी पढ़ें :- West Bengal Election Results 2021: कांटे की टक्कर के बाद ममता बनर्जी ने नंदीग्राम सीट पर बीजेपी के शुभेंदु अधिकारी को हराया

पीके ने अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए कहा कि अब तक लोग उन्हें रोल में देखते रहे हैं, पर अब मैं उसे निभाउंगा। प्रशांत के इस कथन से ये माना जा रहा है कि वे अब चुनाव प्रबंधन का काम अपने लिए करेंगे और सीधे-सीधे राजनीति में कदम रखेंगे।

प्रशांत ने क्यों लिया संन्यास?

प्रशांत किशोर ने कहा कि वह कभी भी इस काम को नहीं करना चाहते थे, लेकिन वे इस क्षेत्र में आ गए और अब अपने हिस्से का काम पूरा कर लिया है। उन्होंने कहा कि I-PAC में उससे कई गुना अधिक काबिल लोग हैं, जो अच्छा काम करेंगे। इसलिए वे अब ब्रेक लेना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें :- West Bengal Election Results 2021: विधानसभा चुनाव का अब तक का हाल, जीतने वाले को वोटरों ने खूब दिए वोट

ऐसे में अब सवाल ये है कि पीके क्या करेंगे? जानकारों का मानना है कि चुनावी रणनीतिकार का काम छोड़ने के बाद पीएके राजनीति में सीधे-सीधे कदम रख सकते हैं। हालांकि पीके ने कहा है कि उन्हें कुछ वक्त दिया जाए इस बारे में सोचने के लिए कि अब वे क्या करेंगे? हालांकि उन्होंने कहा कि वे जरूर कुछ करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि वे क्विट यानी इस काम को छोड़ने की बात लंबे समय से सोच रहे थे, लेकिन सही वक्त नहीं मिल रहा था। अब उन्हें बंगाल का वक्त बिल्कुल राइट टाइम लगा।

प्रशांत ने कहा कि वे राजनीति में भी गए, लेकिन पॉलिटिक्स में फेल हो गए। लेकिन अब यदि फिर से राजनीति में जाता हूं तो इस बार ये जरूर विचार करूंगा कि क्या कमी रह गई फिर फैसला लूंगा।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned