National Film Awards 2019: सुशांत सिंह राजपूत की 'छिछोरे' को मिला बेस्ट हिंदी फिल्म का खिताब

By: Anil Kumar
| Updated: 22 Mar 2021, 07:10 PM IST
National Film Awards 2019: सुशांत सिंह राजपूत की 'छिछोरे' को मिला बेस्ट हिंदी फिल्म का खिताब
67th National Film Awards: Sushant Singh Rajput's 'Chichhore' won Best Hindi Film Awards

67th National Film Awards: दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म छिछोरे को हिन्दी सिनेमा में बेस्ट फिल्म का अवार्ड दिया गया है, जबकि कंगना रनौत को 'मणिकर्णिकाः द क्वीन ऑफ झांसी और पंगा के लिए बेस्ट एक्ट्रेस के खिताब से नवाजा गया है।

नई दिल्ली। 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार ( 67th National Film Awards ) की घोषणा सोमवार को की गई। हिन्दी सिनेमा में दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म छिछोरे ने बाजी मारी, तो वहीं अभी हाल के दिनों में काफी विवादों में रहीं कंगना रनौत को 'मणिकर्णिकाः द क्वीन ऑफ झांसी और पंगा के लिए बेस्ट एक्ट्रेस के खिताब से नवाजा गया है। राष्ट्रीय फिल्म अवार्ड की घोषणा राजधानी दिल्ली के नेशनल मीडिया सेंटर में की गई।

हिन्दी सिनेमा में बेस्ट फिल्म का अवार्ड जितने वाली फिल्म छिछोरे सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म थी, जिसमें मानसिक स्वास्थ्य को लेकर मेसेज देने की कोशिश की गई है। इस फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत के साथ श्रद्धा कपूर, वरूण शर्मा, प्रतीक बब्बर, ताहिर राज मुख्य किरदार में नजर आए थे। इस फिल्म को नितेश तिवारी ने निर्देशित किया था।

यह भी पढ़ें :- National Film Awards: कंगना रनौत को चौथी बार मिला नेशनल अवॉर्ड, वीडियो जारी कर कही ये बात

सितंबर 2019 में रिलीज हुआ था फिल्म छिछोरे

फिल्म छिछोरे की कहानी की बात करें अनिरुद्ध पाठक उर्फ अन्नी (सुशांत सिंह राजपूत) एक तलाकशुदा और अधेड़ उम्र के व्यक्ति है जो अपने बेटे राघव (मोहम्मद समद) के साथ रहता है। उसका बेटा राघव इंजीनियर बनने का इच्छुक रहता है, लेकिन उसे आईआईटी में प्रवेश नहीं मिलता है।

इसके बाद राघव घर के बालकनी से छलांग लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश करता है। इससे उन्हें काफी चोट आती है। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया जाता है, जहां पर अन्नी उन्हें मोटिवेट करने का प्रयास करता है और बताता है कि वह भी अपने कॉलेज के दिनों क लूजर की रह था। इसके लिए अन्नी अपने दोस्तों से मिलवाता है, जो सभी के सभी लूजर्स (हारे हुए लोग) के तौर पर जाने जाते हैं।