OTT in India: भारत मे ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ की बढ़ती लोकप्रियता

By: Tanay Mishra
| Published: 06 Aug 2021, 05:46 PM IST
OTT in India: भारत मे ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ की बढ़ती लोकप्रियता
OTT media services growing popularity in India

OTT in India: OTT मीडिया सर्विसेज़ का भारत में चलन पिछले कुछ सालों में तेज़ी से बढ़ा है। इससे दर्शकों को मनोरंजन का एक बेहतरीन और आसान प्लेटफॉर्म भी मिला है, जिससे दर्शकों में ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ का इस्तेमाल और इसके लिए इंट्रेस्ट भी बढ़ा है।

नई दिल्ली। वर्तमान समय मे ओटीटी (OTT) मीडिया सर्विसेज़, एंटरटेनमेंट की दुनिया का बड़ा और महत्वपूर्ण माध्यम बन गयी है। यह मनोरंजन का एक बेहतरीन और आसान प्लेटफॉर्म है। बेह्तरीन इसलिए क्योंकि एक ही जगह पर मनोरंजन के लिए ओटीटी पर बहुत सारा मनोरंजक कंटेंट मिल जाता है। आसान इसलिए क्योंकि बिना कहीं आए-जाए, एक ही जगह से इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ का परिचय

ओटीटी अर्थात् ओवर द टॉप मीडिया सर्विसेज़ ऐसी मीडिया सर्विसेस है जिसमें इन्टरनेट, केबल, सैटेलाइट आदि के माध्यम से दर्शकों को एक ऐसा प्लेटफॉर्म दिया जाता है जहाँ पर मनोरंजन के लिए फिल्म, वेब सीरीज, टीवी शोज़ आदि एक ही जगह पर उपलब्ध होते हैं। इसके लिए दर्शक को एक मासिक अथवा वार्षिक शुल्क का भुगतान करना होता है।

भारत मे ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ की शुरुआत

भारत मे रिलायंस एंटरटेनमेंट (Reliance Entertainment) ने 2008 मे सबसे पहले बिग फ्लिक्स (Big Flix) नाम से पहला ओटीटी प्लेटफॉर्म शुरू किया। डिजिवाइव (Digivive) ने 2010 मे भारत का पहला ओटीटी ऐप नेक्सजीटीवी (NexGTV) शुरू किया।

OTT in India

यह भी पढ़े - आर्ट एंड कल्चर : ओटीटी पर 'रामयुग ' एक नया अध्याय

ओटीटी ने भारत मे 2013 मे गति पकड़ी जब ज़ी का डिटोटीवी (DittoTV) और सोनी लिव (SonyLiv) शुरू हुआ।

OTT in India

यह भी पढ़े - ओटीटी प्लेटफॉर्म पर बढ़ रहा है रीजनल कंटेंट का दबदबा

भारत मे ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ की लोकप्रियता का विस्तार

कोरोना काल और लॉकडाउन मे सिनेमाघर बंद हो गए और कई व्यवसायों को भी नुकसान उठाना पड़ा। ऐसे ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ का बहुत ही तेज़ी से विकास हुआ। लॉकडाउन में लोगों ने मनोरंजन के लिए ओटीटी प्लेटफॉर्म जैसे, नेटफ्लिक्स (Netflix), अमेज़न प्राइम वीडियो (Amazon Prime Video), डिज़्नी+हॉटस्टार (Disney+Hotstar) आदि की ओर रुख किया जहाँ पर अनेक फ़िल्मों, वेबसीरीज़ ने लोगों को मनोरंजन का एक नया और सरल साधन मुहैया कराया। अच्छे और अलग तरह के कंटेंट होने की वजह से भारत मे इस दौरान ओटीटी के यूजर्स तेज़ी से बढ़े। ओटीटी की तीव्र सफलता से जहाँ दर्शकों को मनोरंजन का एक नया और बेह्तरीन माध्यम उपलब्ध हुआ वही इससे टीवी जगत को टक्कर मिली। भारत मे लंबे समय से टीवी पर सास-बहू के एक ही जैसे सीरिअल देख देखकर दर्शक भी परेशान हो गए थे और कुछ नया और मनोरंजक चाहते थे और उनकी यह जरूरत ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ के नए और अलग कंटेंट ने पूरी कर दी। ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ की भारत मे सफलता का यह एक बड़ा कारण है क्योंकि ओटीटी प्लेटफॉर्म पर एक ही तरह का कंटेंट ना होकर अलग-अलग तरह का कंटेंट उपलब्ध हैं। यह हर दर्शक वर्ग का ध्यान आकर्षित करने मे सफल होता है, जो इसे टीवी से अलग बनाता है।

OTT in India

कैसे देखें

ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ मे एक यह भी सुविधा है कि इसे दर्शक ना सिर्फ अपने टीवी पर, बल्कि अपने मोबाइल फोन, कंप्यूटर, लैपटॉप आदि उपकरणों पर भी देख सकते हैं। मोबाइल फोन और लैपटॉप पर ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ को देख पाने की सुविधा से दर्शक जब चाहे, जहाँ चाहे, वही से अपनी पसंद का कंटेंट अपनी सुविधा के अनुसार कभी भी देख सकता है। यह भी एक कारण है कि ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ दर्शकों के बीच मे तेज़ी से लोकप्रिय हो रही है।

यह भी देखे - अब माता-पिता चाहेंगे, तब ही नेटफ्लिक्स-अमेजन प्राइम पर कुछ देख पाएंगे: Video

नए अवसर उपलब्ध कराना

ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ ने मनोरंजन के नए अवसर तो उपलब्ध कराए ही हैं, साथ ही कलाकारों के लिए भी नए अवसर उपलब्ध कराने का कार्य किया है। ओटीटी के माध्यम से कई कलाकारों को अपने अभिनय को दिखाने का एक मंच मिला है तथा उनके अभिनय को ओटीटी प्लेटफॉर्म मिलने से तथा दर्शकों से अच्छी प्रतिक्रिया मिलने से उन्हें वो अवसर मिल रहे हैं जो ओटीटी प्लेटफॉर्म से पहले नही मिल पाते थे। ओटीटी की बढ़ती सफलता से कई बड़े अभिनेताओं और अभिनेत्रियों ने भी ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अपनी अपनी फ़िल्मों को रिलीज़ करने का रुख किया तथा सिनेमाघरों के बंद होते हुए भी वो अपनी फ़िल्मों को दर्शकों तक पहुंचा पाए। इससे पिछले 1 साल मे ओटीटी का भारत मे विकास और सफलता और भी तेज़ी से बढ़ी।

भारत मे ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ का भविष्य

भारत मे यदि ओटीटी प्लेटफॉर्म की बढ़ती सफलता पर गौर किया जाए तो यह कहना बहुत ही आसान होगा कि भविष्य मे ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ का भारत मे और भी अधिक बोलबाला होगा। अर्नेस्ट एंड यंग की रिपोर्ट के अनुसार भारत मे 2020 के अंत तक लगभग 500 मिलियन ओटीटी यूजर्स पहुंच गए थे जोकि भारत को ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ के बाजार मे अमेरिका के बाद दूसरा सबसे बड़ा देश बनाती है। केपीएमजी मीडिया एंड एंटरटेनमेंट की 2018 की रिपोर्ट के अनुसार भारत मे ओटीटी मीडिया सर्विसेस का मार्केट 2023 तक 43% तक बढ़ जाएगा और 13,800 करोड़ का हो जाएगा। ओटीटी मीडिया सर्विसेज़ की बढ़ती लोकप्रियता और सफलता को देखा जाए, तो भारत भविष्य मे इस क्षेत्र में अमेरिका को भी पीछे छोड़ सकता है।

यह भी पढ़े - जेफ बेजोस 62 हजार करोड़ रुपये में खरीद रहे हैं 97 साल पुरानी कंपनी