चीनी से महंगा बिक रहा गुड़, सर्दियों में और बढ़ेंगे दाम, जानें- आज के भाव

- उत्तर प्रदेश के कई शहरों में चीनी महंगा गुड़ बिक रहा है
- तुरंत पैसे के लिए गन्ना कोल्हू पर गन्ना बेच रहे हैं किसान
- गुड़ के रेट बढ़ने की वजह कोरोना काल में गुड़ की डिमांड बढ़ना है

By: Hariom Dwivedi

Updated: 15 Nov 2020, 02:30 PM IST

पत्रिका ग्राउंड रिपोर्ट
राजीव शुक्ला
फर्रुखाबाद. उत्तर प्रदेश में इन दिनों गुड़ चीनी से महंगा बिक रहा है। फर्रूखाबाद, लखनऊ, कानपुर और सुलतानपुर समेत प्रदेश के कई शहरों में गुड़ फुटकर में 45-50 रुपए प्रति किलो मिल रहा है, जबकि फुटकर में चीनी का भाव 35-36 रुपए प्रति किलो है। गुड़ के व्यापारियों का कहना है कि गुड़ का रेट बढ़ने की वजह कोरोना काल में गुड़ की डिमांड बढ़ना है। व्यापारियों का कहना है कि मौसम के साथ गुड़ के रेट घटते-बढ़ते हैं। सर्दियों में गुड़ और महंगा हो जाएगा। फर्रुखाबाद में इन दिनों गुड़ खूब तैयार किया जा रहा है जो स्थानीय मंडी के अलावा प्रदेश की अन्य मंडियों में भेजा जाता है। जनपद में करीब 40 से अधिक गन्ना कोल्हू संचालित हैं, जो गुड़ बनाकर तैयार कर रहे हैं। जिले में चीनी मिल में 19 नम्वबर से शुरू हो रही हैं, लेकिन गन्ना की कटाई बीते 15 दिनों शुरू है। तुरंत पैसे के लिए जरूरतमंद किसान अपना गन्ना कोल्हू वालों को बेच दे रहे हैं।

फर्रुखाबाद का कायमगंज इलाका गन्ना उत्पादन का प्रमुख केंद्र है। यहां चीनी मिल भी लगी है। मिल क्षेत्र में प्रतिवर्ष करीब 40 लाख क्विंटल गन्ने की पैदावार होती है। कम क्षमता वाली सरकारी चीनी मिल 15 से 16 लाख क्विंटल गन्ना ही ले पाती हैं। शेष गन्ना औने-पौने भाव में कोल्हू में बिक गुड़ बनाने के लिए बेचा जाता है। कोल्हू पर गन्ना की खरीद 200-225 प्रति कुंटल तक होती है, जबकि चीनी मिल में गत वर्ष गन्ना समर्थन मूल्य 315-325 रुपये प्रति कुंतल था।

मजबूरी में कोल्हू पर गन्ना बेचते हैं किसान
जिले के गुड़ विक्रेताओं के मुताबिक क्षेत्र में 40 से अधिक कोल्हू संचालित हैं। चीनी मिल को गन्ना आपूर्ति न कर पाने वाले व तत्काल भुगतान चाहने वाले किसान कोल्हू पर गन्ना आपूर्ति करते हैं। किसान राम किशोर राजपूत ने कहा कि प्राइवेट कोल्हू पर किसान अपना गन्ना तभी भेजता है जब उसे तत्काल पैसे की आवश्यकता होती है। वहां किसानों का गन्ने का नगद भुगतान कर दिया जाता है। क्रय केंद्र पर बैठे तौल लिपिक सुरजीत सिंह ने बताया कि किसान अपना गन्ना सरकारी क्रय केंद्र पर बेचता है, लेकिन कुछ किसान कोल्हू पर ही औने-पौने दामों में अपना गन्ना बेच दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें : एक दिसम्बर से यहां 50 रुपए प्रति लीटर बिकेगा दूध

क्यों महंगा बिक रहा गुड़
गुड़ के कई फायदे हैं। पेट से सम्बंधित समस्‍याओं के लिए गुड़ रामबाण इलाज है। लगातार सेवन से हीमोग्लोबिन बढ़ता है। ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है और हड्डियां मजबूत होने के साथ ही पाचन तंत्र बेहतर होता है। इसके अलावा इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए लोग काढ़ा आदि के जरिये गुड़ का अधिक इस्तेमाल कर रहे हैं।

प्रमुख शहरों में गुड़ के भाव
लखनऊ : 45-50 रुपए प्रति किलो
सुलतानपुर : 40-45 रुपए प्रति किलो
फर्रूखाबाद : 40-45 रुपए प्रति किलो
उन्नाव : 40-45 रुपए प्रति किलो
कानपुर : 40-45 रुपए प्रति किलो

यह भी पढ़ें : एमएसपी पर बेचना है धान तो पहले कराएं रजिस्ट्रेशन, जानें- पंजीकरण की पूरी डिटेल और जरूरी डॉक्यूमेंट्स

देखें वीडियो...

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned