आलू के साथ अन्य सब्जियां भी हो गई महंगी, दाल के भी बढ़े भाव, जानें क्या हैं रेट

जिला में सब्जियों का राजा कहे जाने वाले आलू की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है। फुटकर बाजार में इसके दाम 40 रुपये प्रति किलो हैं.

By: Abhishek Gupta

Published: 30 Oct 2020, 08:57 PM IST

फर्रुखाबाद. जिला में सब्जियों का राजा कहे जाने वाले आलू की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है। फुटकर बाजार में इसके दाम 40 रुपये प्रति किलो हैं। वहीं हरी सब्जियां भी इतराने लगी हैं। लॉकडाउन में जिस तोरई और भिंडी की कीमत 10 रुपये किलो थी, वही अब उनकी कीमत 50 रुपये किलो तक पहुंच गई है। महंगाई के कारण टमाटर और लाल हो गया है और महंगा प्याज भी लोगों के आंसू निकालने पर मजबूर कर रहा है। यही हाल दालों के भी हैं। रसोई के बिगड़े बजट को दालों ने और बिगाड़ दिया है।

फर्रुखाबाद जिले में आलू बड़ी मात्रा में होता है। इसके बावजूद इनके दाम कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। फुटकर में आलू 35 रुपये से लेकर 40 रुपये तक बिक रहा है। हरी सब्जियां भी 20 से लेकर 160 रुपये प्रति किलो में बिक रही हैं। लोगों को उम्मीद थी कि अक्टूबर में आलू के दाम कम होंगे लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ। सब्जियों पर पड़ी महंगाई के चलते गरीब की थाली में तो सब्जी गायब हो सी होती जा रही है। सब्जी के बढ़े दामों के चलते फुटकर दुकानदार भी कम माल ला रहे हैं। पंचाल घाट पर सब्जी की ठेली लगाने वाले दुकानदार रामबरन का कहना है कि सब्जी के दाम बढ़ने के चलते लोग बहुत ही कम सब्जी खरीद रहे हैं। इस वजह से सब्जी कम ला रहे हैं क्योंकि ज्यादा सब्जी लाने से सब्जी बच जाती है।

वही आलू की आढत किये रामवीर बताते हैं कि आलू के दाम कम न होने के कारण सब्जियों में सबके दाम बढ़ गए हैं।
वहीं दाल के थोक व्यापारी से बात हुई तो उन्होंने बताया पिछले वर्ष दालों की फसल अपेक्षाकृत कम हुई है। इस बार भी दालों की फसल लॉक डाउन का शिकार हो गई। इस कारण बाजार में माल कम है और दामों में इजाफा होगा।

दाल के दाम-
अरहर-110-115
उर्द-95-100
मूंग-95-100
चना-70-75
मसूर-80-90

वही एक फुटकर दुकानदार से बात हुई तो उन्होंने बतायाकि आलू और सब्जियों के दाम बढ़े हैं। इस कारण दालों के दाम भी बढ़ गए हैं। ठंड का मौसम आगे है। दालों के दाम कम होने की संभावना है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned