चैत्र नवरात्रि : 2020 में इस सिद्ध योग में होगी माँ दुर्गा की पूजा आराधना

नौ दिन होगी विशेष सिद्ध शुभ योग में माता की पूजा

Shyam Kishor

19 Mar 2020, 01:57 PM IST

इस साल चैत्र नवरात्रि 25 मार्च से शुरू होकर 2 अप्रैल तक रहेगी। ज्योतिष गणना के अनुसार, इस बार चैत्र नवरात्रि के पूरे नौ दिनों तक माँ दुर्गा भवानी की पूजा आराधना सर्वार्थ सिद्धि योग में होगी। नवरात्रि काल की इस अवधि में जो भी माता के भक्त नौ दिन उपवास रखकर विधिवत पूजा अर्चना करेंगे, माता उनकी सभी कामनाएं पूरी कर देंगी।

चैत्र अमावस्या का ये टोटका दिलाएगा मनचाही नौकरी करेगा हर इच्छा पूरी

साल 2020 में सर्वार्थ सिद्धि योग के शुभ मुहूर्त में माँ दुर्गा के इन नौ रूपों की विशेष पूजा उपासना करें।

1- बुधवार 25 मार्च को माँ दुर्गा के प्रथम रूप माँ शैलपुत्री की लाल पुष्पों से आराधना करें।

2- गुरुवार 26 मार्च को माँ दुर्गा के द्वितीय रूप -ब्रह्मचारिणी की सफेद पुष्प से आराधना करें।

3- शुक्रवार 27 मार्च को माता के तृतीया रूप माँ चन्द्रघंटा के साथ गणगौर का पूजन पीले पुष्प से करें।

4- शनिवार 28 मार्च को मां दुर्गा के चतुर्थ रूप माँ कुष्मांडा की आराधना लाल पुष्प से करें ।

5- रविवार 29 मार्च को माता के पंचम रूप माँ स्कंध माता का नीले पुष्प से पूजन करें।

चैत्र मास में नीम की इतनी पत्तियां खाने से दूर हो जाती है गंभीर बीमारियां

6- सोमवार 30 मार्च को माँ दुर्गा के षष्ठम रूप माँ कात्यायनी की पूजा नारंगी पुष्प से करें।

7- मंगलवार 31 मार्च को माँ दुर्गा के सप्तमी रूप माँ कालरात्रि की आराधना लाल व नीले पुष्प से करें।

8- बुधवार 1 अप्रैल को दुर्गा महाअष्ठमी के दिन माता महागौरी विशेष पूजा लाल पुष्पों से करें।

9- गुरुवार 2 अप्रैल को नवमी तिथि पर चैत्र नवरात्रि का समापन ज्वारे के विसर्जन के साथ होगा। इसी दिन भगवान राम का जन्मोत्सव "रामनवमी" महापर्व मनाया जाएगा।

25 मार्च से शुरू हो रहा हिंदू नववर्ष (गुड़ी पड़वा), जानें 12 महीनों की 12 महिमा

चैत्र ननरात्रि शुभ मुहूर्त

1- चैत्र नवरात्रि 25 मार्च से शुरू होगी।

2- चैत्र नवरात्रि की प्रतिपदा तिथि 24 मार्च को दोपहर 2 बजकर 57 पर आरंभ होकर 25 मार्च को दोपहर 2 बदकर 26 मिनट तक रहेगी।

3- कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त 25 मार्च को सुबह 6 बजकर 19 मिनट से सूर्य अस्त होने से 20 मिनट पहले तक रहेगा।

**********

चैत्र नवरात्रि : 2020 में इस सिद्ध योग में होगी माँ दुर्गा की पूजा आराधना
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned