पुत्रदा पौष एकादशी शुभ मुहूर्त : व्रत पूजा से संतान सुख की कामना हो जाती है पूरी

पुत्रदा पौष एकादशी शुभ मुहूर्त : व्रत पूजा से संतान सुख की कामना हो जाती है पूरी

By: Shyam

Published: 03 Jan 2020, 11:17 AM IST

साल 2020 में पुत्रदा एकादशी 6 जनवरी 2020 दिन सोमवार को है, पौष माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को पौष पुत्रदा एकादशी कहा जाता है। शास्त्रोंक्त ऐसी मान्यता है कि इस दिन व्रत उपवास विधि पूर्वक पूजा करने से संतान सुख की कामना पूरी हो जाती है। इस पौष पुत्रदा एकादशी के दिन भगवान विष्णु की विशेष पूजा आराधना करने वाले निसंतानों को संतान प्राप्ति और संतान की रक्षा भी होती है। जानें पौष पुत्रदा एकादशी व्रत की संपूर्ण पूजा विधि एवं मुहूर्त।

पुत्रदा पौष एकादशी शुभ मुहूर्त : व्रत पूजा से संतान सुख की कामना हो जाती है पूरी

एकादशी व्रत पूजा विधि

1- पुत्रदा पौष एकादशी के दिन पूर्ण शुद्ध होकर संतान प्राप्ति की मनोकामना से हाथ में जल व अक्षत लेकर व्रत करने का संकल्प लें।
2- इस दिन भगवान श्रीकृष्ण के बाल गोपाल स्वरूप की पूजा संतान प्राप्ति के लिए करें एवं पूरे दिन उपवास रहकर शाम को दीप दान भी करें।
3- पुत्रदा एकादशी का व्रत रखने वाले व्रत से पूर्व यानी दशमी के दिन एक ही वक्त वह भी सात्विक भोजन करके उसी दिन से द्वादशी तिथि तक संयमित और ब्रह्मचर्य के नियम का पालन करना चाहिए।
4- पंचामृत से भगवान विष्णु का स्नान, षोडशोपचार आदि पूजन करना चाहिए।

 

2020 में कुल 25 एकादशी तिथियां : जानें पूरी तारीखें

 

5- व्रत के अगले दिन गरीबों को भोजन कराकर, दान-दक्षिणा देना चाहिए।
6- संतान प्राप्त के लिए पति-पत्नी दोनों ही सूर्योदय के समय भगवान श्रीकृष्ण के बाल गोपाल स्वरूप की उपासना एवं उनके मंत्र का जप करना चाहिए।
7- पुत्रदा एकादशी के दिन संतान प्राप्ति की कामना से पति-पत्नी दोनों ही इस मंत्र का जप तुलसी की 11 माला से करें।
मंत्र-
देवकीसुतं गोविन्दम् वासुदेव जगत्पते।
देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गत:।।

8- मंत्र जप पूरा होने के बाद हवन कुंड़ में आम, गुलर, बेल व पलाश की समिधाओं में 108 आहुति गाय के घी की देने से संतान प्राप्ति के प्रबल योग बन जाते हैं।

पुत्रदा पौष एकादशी शुभ मुहूर्त : व्रत पूजा से संतान सुख की कामना हो जाती है पूरी

पुत्रदा एकादशी व्रत शुभ मुहूर्त

1- एकादशी तिथि- 6 जनवरी 2020 को सूर्योदय से पूर्व सुबह 3 बजकर 6 मिनट से शुरू हो जाएगी।
2- एकादशी तिथि का समापन 7 जनवरी को तड़के 4 बजकर 2 मिनट पर होगा।
3- एकादशी व्रत के पारण का शुभ मुहूर्त 7 जनवरी को दोपहर 1 बजकर 30 बजे से 3 बजकर 55 मिनट तक रहेगा।

*****************

पुत्रदा पौष एकादशी शुभ मुहूर्त : व्रत पूजा से संतान सुख की कामना हो जाती है पूरी
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned