Holi 2020 : आज शाम इस मुहूर्त में ऐसे करें होलिका दहन और पूजन

Holi : आज शाम इस मुहूर्त में ऐसे करें होलिका दहन और पूजन

By: Shyam

Published: 09 Mar 2020, 09:57 AM IST

आज 9 मार्च 2020 दिन सोमवार को फागुन मास की पूर्णिमा तिथि है, प्रतिवर्ष इस दिन हिंदू धर्म का महापर्व होलिका दहन का त्यौहार है। इस शुभ दिन को अच्छाई पर बुराई की विजय के रूप में मनाया जाता है। आज होलिका दहन एवं पूजन के लिए कुल 2 घंटे 26 मिनट का समय ही सबसे शुभ मुहूर्त है। जानें किसी शुभ मुहूर्त में करें होलिका दहन एवं पूजन।

Holi : जलती होली की लौ एवं धुआं करता है "होनी-अनहोनी" की भविष्यवाणी, जानें कैसे..

सबसे पहले इन सामग्रियों को करें इकट्ठा-

पूजा सामग्री में एक लोटा गंगाजल या ताजा शुद्ध जल, रोली, खुले फूल व 4 फूल माला, सात रंग में रंगे रंगीन चावल, सुगंधित धूप, गुड़ या मिठाई, कच्चा सूत, साबूत हल्दी, मूंग, बताशे, नारियल एवं नई फसल के अनाज गेंहू की बालियां, पके चने एवं गोबर से बनी ढाल आदि।

Holi 2020 : आज शाम इस मुहूर्त में ऐसे करें होलिका दहन और पूजन

होलिका दहन एवं पूजन का शुभ मुहूर्त

09 मार्च दिन सोमवार को फाल्गुन पूर्णिमा तिथि का प्रारंभ सुबह 03:03 बजे हो रहा है।
जिसका समापन उसी रात 11:17 बजे होगा। इस दिन होलिका दहन करने के लिए मुहूर्त का कुल समय 02 घण्टे 26 मिनट ही है।
होलिका दहन शुभ मुहूर्त- शाम 6 बजकर 26 मिनट से रात 8 बजकर 52 मिनट तक

कुंडली दोष होंगे दूर, इस होली अपनी जन्म राशि के इस रंग को लगाकर करें यह उपाय

ऐसे करें होलिका दहन से पहले और बाद में पूजन
- होलिका दहन के शुभ मुहूर्त के समय चार मालाएं- मौली, फूल, गुलाल, ढाल और खिलौनों से बनाई हुई।
- एक माला पितरों के नाम की, दूसरी श्री हनुमान जी के लिये, तीसरी शीतला माता के लिए और चौथी घर परिवार के नाम की।
- सभी पूजन सामग्री को नीचे रखकर होली के चारों ओर सात परिक्रमा करते हुए कच्चा सूत को सात बार लपेटे।
- अब पंचोपचार विधि से होलिका का पूजन कर जल से अर्घ्य दें।
- पूजन के बाद 5 बार गायत्री मंत्र बोलते हुये होलिका को अग्नि से दहन करें।

Holi 2020 : आज शाम इस मुहूर्त में ऐसे करें होलिका दहन और पूजन

- होलिका दहन के बाद पहले थोड़ा सा शुद्ध जल अर्पित करने के बाद सभी अन्य पूजा सामग्रियों को एक एक कर जलती होलिका में अर्पित करें।

- पूजन के बाद भगवान नरसिंह के निमित्त जलती होलिका में कच्चे आम, नारियल, गेहूं, उड़द, मूंग, चना, चावल जौ और मसूर, चीनी के खिलौने, नई फसल आदि को एक साथ मिलकार 11 आहुति प्रदान करें।

******************

Holi festival holi shubh muhurat
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned