scriptBig news for those taking home and consumer loan, pay less interest | Home And Consumer Loan लेने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी, चुकाना होगा कम ब्याज | Patrika News

Home And Consumer Loan लेने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी, चुकाना होगा कम ब्याज

Home And Consumer Loan लेने वालों को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बड़ी राहत देते हुए कहा है कि जिन लोगों ने एनबीएसफ और माइक्रो फाइनेंस कंपनियों से होम और कंज्यूमर लोन लिया है उन्हें कम ब्याज चुकाना होगा।

नई दिल्ली

Updated: April 02, 2021 10:23:42 am

Home And Consumer Loan। नया वित्त वर्ष आम लोगों के लिए बड़ी खबर लेकर आया है। खासकर उन लोगों के लिए जिन्होंने कोविड 19 के दौरान मजबूरी में एनबीएफसी और माइक्रो फाइनेंस कंपनियों से ज्यादा ब्याज पर होम और कंज्यूमर लोन ( Home And Consumer Loan ) लिया था। नए वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही से उन्हें कम ब्याज देना होगा। यह नया नियम नए ग्राहकों के लिए भी लागू होगा। साथ ही उन पुराने ग्राहकों को भी फायदा होगा, जिन लोगों ने फ्लोटिंग रेट पर होम लोन लिया हुआ था। वास्तव में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने एवरेज बेस रेट जारी कर ऐसे ग्राहकों को बड़ी राहत दी है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर आरबीआई की ओर से नई ब्याज दरें क्या रखी हैं।

Big news for those taking home and consumer loan, pay less interest
Big news for those taking home and consumer loan, pay less interest

यह भी पढ़ेंः- HDFC FD Rates : एचडीएफसी के ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, एफडी पर मिलेगा अब इतना ब्याज

एवरेज बेस में की कटौती
आरबीआई क ओर से नया एवरेज बेस रेट जारी किया गया है। यह देश के पांच 5 बड़े कमर्शियल बैंकों का औसत बेस रेट है। 31 मार्च 2021 को समाप्त हुई तिमाही में इन बैंकों का एवरेज बेस रेट 0.15 फीसदी कम हो गया है। पहले यह रेट 7.96 फीसदी था, जो अब कम होकर 7.81 फीसदी हो गया है। खास बात तो ये है कि बीते दो सालों में पांच बैंकों का एवरेज बेस रेट 1.40 फीसदी तक कम हो चुका है। 30 जून 2019 को यही बेस रेट 9.21 फीसदी था।

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today: कच्चे तेल की कीमतों में आग, देश में रही शांति, आज इतने चुकानें होंगे दाम

हर तिमाही जारी नए बेस रेट
खास बात तो ये है कि यह बेस रेट रिजर्व बैंक प्रत्येक तिमाही में जारी करता है। जोकि एनबीएफसी और एमएफआई के लिए बेंचमार्क रेट का काम करते हैं। एनबीएफसी और एमएफआई की ब्याज दरें ज्यादा होती है। जिन्हें कंट्रोल करने के लिए रिजर्व बैंक की ओर से खास व्यवस्था की गई है। आरबीआई 5 बड़े कमर्शियल बैंकों का एवरेज बेस रेट जारी करता है, जो एनबीएफसी और एमएफआई के लिए बेंचमार्क रेट सेट करता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.