Zomato ऐप यूज करने से इस महिला का खाता हुआ साफ, हुआ चौंकाने वाला खुलासा

Zomato ऐप यूज करने से इस महिला का खाता हुआ साफ, हुआ चौंकाने वाला खुलासा

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Aug, 14 2019 01:57:55 PM (IST) | Updated: Aug, 14 2019 01:58:32 PM (IST) फाइनेंस

  • कस्टमर केयर एग्जीक्युटिव बनकर साफ किया 17 हजार रुपये।
  • जोमैटो कस्टमर केयर के नाम लोगों को धोखा दे रहे जालसाज।
  • जोमैटो ने पुलिस को दी जानकारी।

नई दिल्ली। कुछ दिन पहले ही विवादों में आया फूड डिलिवरी ऐप जोमैटो से जुड़ा एक और विवाद सामने आया है। अब इस ऐप पर कस्टमर केयर नंबर न होने का फायदा उठाकर कुछ जालसाज ग्राहकों धोखा दे रहे हैं।

कनार्टक के बेंगलुरु में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। गत 20 जून को एक महिला ने जोमैटो से खाना ऑर्डर किया। खाने की क्वालिटी को लेकर शिकायत करने के लिए जब इस महिला ने ऐप के जरिये कस्टमर केयर नंबर ढूंढा तो नहीं मिला। बाद में इस महिला ने ऑनलाइन 'जोमैटो कस्टमर केयर' नाम से एक नंबर ढूंढ निकाला।

यह भी पढ़ें - Sacred Games 2: अब तक की सबसे महंगी वेब सीरीज, नेटफ्लिक्स ने खर्च किये 100 करोड़ रुपये

17 हजार का लगा चुना

इस नंबर पर कॉल करने के बाद उसे एक कस्टमर केयर एग्जीक्युटीव के तौर पर ही बात किया गया। इस महिला से ठीक वैसे ही बात किया गया, जैसे कोई कस्टमर केयर एग्जीक्युटिव करता है। इस कॉल के दौरान महिला को आश्वस्त किया गया कि उनका रिफंड 24 घंटे के अंदर उनके बैंक खाते में वापस कर दिया जायेगा। कॉल रखने के कुछ मिनट बाद इस महिला का खाता साफ हो चुका था।

इस महिला को बोला गया कि उनका पैसा वापस कर दिया जायेगा, लेकिन इसके लिए उन्हें 'AnyDesk' के नाम से एक मोबाइल ऐप को डाउनलोड करना होगा। कॉल पर ही इस महिला को इस ऐप में कुछ स्टेप्स फॉलो करने को कहा गया, जिसके बाद उसके मोबाइल से कुल 17,286 रुपये गायब हो गये। यह मोबाइल ऐप अभी भी गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद है।

यह भी पढ़ें - 7th Pay Commission: दशहरा से पहले केंद्रीय कर्मचारियों को तोहफा, बढ़ सकता है महंगाई भत्ता!

जोमैटो पुलिस को दी जानकारी

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोटü में कहा गया है कि यह जिस नंबर पर इस महिला ने कॉल किया था वह पश्चिम बंगाल का है। इस मामले का संज्ञान लेते हुए फूड डिलिवरी ऐप जोमैटो ने पुलिस को जानकारी दी है कि उसके ऐप पर कस्टमर केयर कॉल की कोई सुविधा नहीं है। ग्राहकों की शिकायतों को चैट के जरिये ही निपटारा किया जाता है।

हाल ही में विवादों में रहा था जोमैटो

दरअसल, कई साइबर फ्रॉड जोमैट कस्टमर केयर के नाम पर लोगों के मेहनत की कमाई लूट रहे हैं। जोमैट संबंधित सर्च करने के दौरान ये नंबर्स गूगल सर्च में बार-बार पॉप-अप हो रहे हैं। इसे देखकर आम ग्राहक इस भ्रम में आ जाते हैं कि ये नंबसü जोमैटो कस्टमर केयर का है, जिसके बाद धोखेबाजों के जालसाजी का शिकार हो जाते हैं। हाल ही में मध्य प्रदेश में एक शख्स ने सोशल मीडिया पर एक जोमैटो डिलिवरी ब्वॉय को लेकर धार्मिक टिप्पणी किया था, जिसे सोशल मीडिया प्लेटफॉम्सü पर खूब ट्रोल किया गया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned