NPS : म्यूचुअल फंड से ज्यादा मिलेगा रिटर्न, महज 5 साल में बन सकते हैं लखपति

  • NPS Tier 2 : पिछले तीन साल में ज्यादातर सभी नेशनल पेंशन सिस्टम टियर 2 ने दोहरे अंकों में रिटर्न दिया है
  • सबसे ज्यादा रिटर्न एलआईसी पेंशन फंड ने दिया, जो करीब 11.88 फीसदी था

By: Soma Roy

Published: 07 Jan 2021, 08:53 PM IST

नई दिल्ली। सुरक्षित भविष्य के लिए अपनी जमापूंजी को सही जगह निवेश करना बेहद जरूरी है। ज्यादातर लोग एफडी एवं डाकखाने की स्कीम्स में पैसा लगाना पसंद करते हैं। वहीं कुछ अन्य लोग ज्यादा मुनाफे के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं। मगर क्या आपको पता है एनपीएस यानी नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS - National Pension System) में पैसा लगाकर इससे भी ज्यादा रिटर्न हासिल किया जा सकता है। हाल ही में एलआईसी पेंशन फंड टियर-2 एनपीएस अकाउंट्स (Tier-II NPS Accounts) ने पिछले तीन साल में सबसे ज्यादा दोहरे अंकों में रिटर्न दिया है। अगर आप भी कम समय में लखपति बनना चाहते हैं तो एनपीएस टियर-2 में निवेश फायदेमंद हो सकता है।

क्या है एनपीएस टियर-2 अकांउट ?
NPS यानि नेशनल पेंशन सिस्टम में मंथली पेंशन के साथ 60 साल की उम्र में आपको एकमुश्त रकम भी मिलती है। PFRDA की ओर से संचालित इस स्कीम में निवेश के लिए व्यक्ति की उम्र 18 से 65 साल के बीच होनी चाहिए। इसमें एनपीएस टियर-1 से और एनपीएस टियर-2 जैसे विकल्प मौजूद होते हैं। एनपीएस टियर-2 में आप अपनी जरूरत के हिसाब से पैसे निकाल सकते हैं। इस स्कीम में 1,000 रुपए से खाता खोला जा सकता है। इसमें साल में कम से कम 250 रुपए का योगदान देना जरूरी होता है।

एनपीएस में दोहरे अंकों में मिला रिटर्न
पिछले तीन साल में लगभग सभी नेशनल पेंशन सिस्टम टियर 2 ने दोहरे अंकों में रिटर्न दिया है। बताया जाता है कि प्रमुख रूप से प्रचलित 7 पेंशन फंड मैनेजर्स ने 11.01 फीसदी से लेकर 13.5 फीसदी सालाना का रिटर्न दिया है। 5 साल की रिटर्न अवधि में भी एलआईसी पेंशन फंड ने सबसे ज्यादा 11.88 फीसदी का रिटर्न दिया है। जबकि CCIL सॉवरेन बॉन्ड (CCIL Sovereign Bond) और 10 साल के गिल्ट म्यूचुअल फंड (Guild Mutual Fund) ने 10.78 फीसदी का ही रिटर्न दिया है। ऐसे में एनपीएस में निवेश करने पर आपको म्यूचुअल फंड से ज्यादा रिटर्न मिल सकता है।

Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned