VIDEO: सपा—बसपा गठबंधन टूटने का सबसे अधिक असर इस विधानसभा में होने वाले उप चुनाव पर पड़ेगा, ये है बड़ी वजह

VIDEO: सपा—बसपा गठबंधन टूटने का सबसे अधिक असर इस विधानसभा में होने वाले उप चुनाव पर पड़ेगा, ये है बड़ी वजह
up chunav

arun rawat | Updated: 04 Jun 2019, 10:49:45 AM (IST) Firozabad, Firozabad, Uttar Pradesh, India

— उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले की इस विधानसभा में उप चुनाव होना तय है, इसे लेकर भावी प्रत्याशी तैयारियों में जुट गए हैं।

फिरोजाबाद। लोकसभा के बाद अब उप चुनाव की तैयारी है। फिरोजाबाद जिले की टूंडला विधानसभा में उप चुनाव होना तय है। इस विधानसभा से अभी तक प्रो. एसपी सिंह बघेल विधायक हैं। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने आगरा से जीत दर्ज की है। उनके चुनाव जीतने के बाद टूंडला विधानसभा में एक बार फिर उप चुनाव की सुगबुगाहट तेज हो गई है। ऐसे में भावी प्रत्याशी भी चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं। सपा—बसपा गठबंधन टूटने के बाद दोनों ही दलों को यहां नुकसान का सामना करना पड़ेगा।

 

 

 

इस विधानसभा में है दलितों की संख्या अधिक
टूंडला विधानसभा में सबसे अधिक दलित समाज के वोटर निवास करते हैं। वहीं इनके बाद यादव समाज का बोलबाला है। इस विधानसभा पर अधिकतर बसपा प्रत्याशी चुनाव जीते हैं। इसके बाद सपा और फिर भाजपा प्रत्याशी ने जीत दर्ज की है। बसपा से राकेश बाबू लगातार दो बार विधायक चुने गए थे। उनके बाद सपा के मोहनदेव शंखवार और भाजपा से शिव सिंह चक विधायक चुने गए।

मिलकर लड़ते तो होता लाभ
सपा—बसपा यदि गठबंधन पर चुनाव लड़ते हैं तो उन्हें विधानसभा में काफी हद तक लाभ मिलेगा लेकिन इन दोनों के अलग—अलग चुनाव लड़ने पर भाजपा प्रत्याशी को लाभ हो सकता है। अब देखना होगा कि आगामी समय में किस प्रत्याशी की जीत होगी। गठबंधन टूटने का सबसे अधिक लाभ भाजपा को मिलेगा।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned