फर्जी शिक्षक भर्ती की जांच के लिए सुहागनगरी पहुंची टीम

Amit Sharma

Publish: Jul, 13 2018 03:23:08 PM (IST)

Firozabad, Uttar Pradesh, India
फर्जी शिक्षक भर्ती की जांच के लिए सुहागनगरी पहुंची टीम

तीन सदस्यीय टीम ने शिक्षक भर्ती संबंधित जुटाए अभिलेख, बीएसए कार्यालय में अभिलेख जुटाने के बाद डायट से भी ली पत्रावली.

फिरोजाबाद। फर्जी शिक्षकों को जांच के लिए शासन से गठित कमेटी ने बीएसए दफ्तर एवं जिला शिक्षक एवं प्रशिक्षण संस्थान नगला अमान पर दस्तक दी। तीन सदस्यीय कमेटी ने शिक्षकों के अभिलेख एवं नियुक्ति पत्रावलियां जुटाई। जांच कमेटी के आने से जिले में हड़कंप मचा रहा। हालांकि टीम को कुछ शिक्षकों के अभिलेखों पर संदेह लगा। मगर टीम जांच के बाद ही निर्णय लेगी। टीम अभी भी सुहागनगरी में रूकी हुई है। टीम ने अभी किसी के नाम सार्वजनिक करने से इंकार कर दिया।

यह भी पढ़ें- हड़ताल पर बैठे लेखपालों के विरूद्ध डीएम का बड़ा एक्शन, उठाया ये कदम

मथुरा में पकडा गया बडा घोटाला

मथुरा में शिक्षक भर्ती में बड़ा घोटाला पकड़े जाने के बाद पूरे प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है। शासन के निर्देशन पर गौतमबुद्व नगर के डायट प्राचार्य संजय उपाध्याय, एडी बेसिक मेरठ अशोक कुमार, बेसिक शिक्षा निदेशालय के लेखाधिकारी सरोज कुमार जांच करने के लिए जिले में आएं। टीम ने 16448 शिक्षक भर्ती प्रकिया के तहत 235 पदों पर विज्ञान-गणित शिक्षक भर्ती में 400 एवं 12460 शिक्षक भर्ती में हुई 105 पदों पर भर्ती की जांच की।

यह भी पढ़ें- भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग में शहीद हुए आईएफएस एके जैन, वन विभाग के अफसरों की आँखों की किरकिरी थे

प्रमाण पत्रों की भी हुई जांच

टीम ने इन भर्तियों में चयनित हुए शिक्षकों की चयन सूची, सेवा पुस्तिका एवं शिक्षकों के अंकपत्रों एवं प्रमाण पत्रों की छायाप्रति तलब की। साथ ही जो शिक्षक विकलांग प्रमाण या किसी अन्य विशेष कोटे से चयनित हुए है। उनके भी अभिलेख मांगे गए। वहीं टीम बीएसए कार्यालय से डायल नगला अमान के लिए पहुंची। वहां से टीम ने इन शिक्षकों द्वारा किए प्रशिक्षण संबंधित जानकारी ली। बीएसए दफ्तर सहित पूरे शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा रहा। हालांकि जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा कि कितने बड़े स्तर पर फर्जीवाड़ा शिक्षक भर्ती में हुआ है। बीएसए अरविंद पाठक का कहना है कि जांच को आई टीम का पूरा सहयोग किया जा रहा है। उन्हें जो भी दस्तावजे चाहिए थे उपलब्ध कराए गए हैं।

Ad Block is Banned