सुहागनगरी में गंगा पुत्रों ने उठाया ऐसा कदम कि सहम गया रेल प्रशासन

आरक्षण की मांग को लेकर नई दिल्ली से भागलपुर जाने वाली मालगाड़ी को नगला पचिया पर रोका।

By: अमित शर्मा

Published: 07 Jun 2018, 08:15 PM IST

फिरोजाबाद। आरक्षण की मांग को लेकर निर्वल इंडियन शोषित हमारा आम दल (निषाद पार्टी) के पदाधिकारियों ने नगला पचिया में रेल रोककर प्रदर्शन किया। निषाद समाज के लोगों ने ओबीसी से हटाकर उन्हें अनुसूचित जाति में शामिल किए जाने की मांग की। आरक्षण न मिलने की दशा में आंदोलन उग्र करने की चेतावनी दी। इस दौरान सुहागनगरी में निषाद समाज के लोगों ने जमकर हंगामा किया।

एएमयू में स्ट्रीट पोल पर लिखाये गए क़ुरआन के कोट्स पर खड़ा हुआ विवाद

एससी प्रमाण पत्र की कर रहे मांग

बुधवार को निषाद पार्टी के लोग काफी संख्या में एकजुट होकर नगला पचिया पहुंच गए। जहां उन्होंने हंगामा और नारेबाजी करते हुए नई दिल्ली से भागलपुर जाने वाली मालगाडी को रूकवा लिया। समाज के लोग आरक्षण की मांग को लेकर उग्र हो रहे थे। लोग सिर पर लाल टोपी और हाथों में झंडी लिए मालगाडी के ऊपर चढ़ गए और सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की। निषाद समाज के लोगों ने आरक्षण न मिलने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

रोडवेज बस में बैठे मिले ये मासूम बच्चे, पुलिस तलाश रही इनके मां-बाप को

पीएम ने बोला झूठ

जिलाध्यक्ष भूपेन्द्र निषाद ने कहा कि मछुआ समाज के प्रदेश में सर्वाधिक वोट हैं। प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों पर सर्वाधिक वोट होने के बाद भी मछुआ समाज अपने अधिकार पाने से वंचित है। निषाद, मल्लाह, केवट, कश्यप, कहार, कुमार, प्रजापति, धीमर, बिंदभर, बाथमू, तुरैया, माझो, मझुआ जातियों को ओबीसी से हटाकर एससी जाति में शामिल किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सत्ता में आने से पूर्व मछेन्द्रनाथ के वंशजों के हक की लडाई सदन से आरक्षण दिलवाने का वादा किया था लेकिन सत्ता में आने के बाद वह भूल गए। इस दौरान करीब 17 मिनट तक मालगाडी खडी रही। हंगामा करने वालों में हरीओम निषाद, बाबा बालकदास, कोमल सिंह, ओमशरध कश्यप, चन्द्रशेखर, भूपेन्द्र निषाद, विष्णु निषाद आदि मौजूद रहे।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned