कोरोना संकट में मानवता शर्मसार: ई—रिक्शा से बांधकर पति के शव को लेकर गई बुजुर्ग महिला

— थाना लाइनपार की रहने वाली एक महिला पति को बीमार होने पर सरकारी ट्रॉमा सेंटर लेकर आई थी।

By: arun rawat

Published: 04 May 2021, 11:08 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
फिरोजाबाद। कोरोना काल में मानवता को शर्मसार करने वाली घटनाएं न केवल सुनने बल्कि देखने भी मिल रही हैं। ऐसा ही एक नजारा यूपी के फिरोजाबाद में देखने को मिला। जहां बीमार पति को इलाज के लिए लेकर आई बुजुर्ग महिला उस समय हताश हो गई जब उसके पति की मौत हो गई और शव ले जाने के लिए उसे एंबुलेंस भी नहीं मिली। बुजुर्ग महिला पति के शव को ई—रिक्शा से बांधकर ले जाने को विवश हुई।
यह भी पढ़ें—

इस साल के अप्रैल में तीन माह से भी अधिक हुई मौतें, अभी नहीं सुधरे तो भयावह होंगे हालात

यह था पूरा मामला
थाना लाइनपार फिरोजाबाद के मोहल्ला रामनगर निवासी 65 वर्षीय बुजुर्ग महिला रविवार को बीमार पति को ई-रिक्शे से सरकारी ट्रॉमा सेंटर लेकर आई थी। मरीज की हालत गंभीर थी। ट्रॉमा सेंटर में चेकअप के बाद चिकित्सक ने मरीज को मृत घोषित कर दिया था। बुजुर्ग महिला ने बताया कि उनके पति कई दिनों से बीमार थे और वह उन्हें इलाज कराने के लिए अस्पताल लेकर आई थी। अस्पताल में बीमार पति की मौत हो गई। अस्पताल में शव रखे होने के बाद महिला ने एंबुलेंस की व्यवस्था करने की मांग की तो कर्मचारियों ने वाहन की व्यवस्था करने से इंकार कर दिया। बाद में मजबूर महिला ने ई—रिक्शा मंगाया और शव को रस्सी से बांधकर ले जाने को विवश हुई। इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है। जिसमें महिला शव को संभालने की कोशिश करती नजर आ रही है लेकिन संभाल नहीं पा रही है। इसलिए उसने शव को रस्सी से बांधने का प्रयास किया। महिला के इस वीडियो को देखकर हर कोई सिस्टम को कोसता नजर आ रहा है। लोगों का कहना था कि इस कोरोना काल ने मानवता को भी शर्मसार कर दिया है।

Show More
arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned