कोरोना योद्धा एडीएम सिटी शैलेंद्र प्रताप सिंह और उनकी एसडीएम पत्नी गुंजा सिंह ने कोविड-19 को दी मात

Highlights

- एडीएम सिटी शैलेंद्र प्रताप सिंह और उनकी पत्नी जेवर एसडीएमगुंजा सिंह पूरी तरह स्वस्थ

- कोरोना ड्यूटी के दौरान संक्रमित हो गए थे दोनों पति-पत्नी

- एडीएम का गाजियबाद तो एसडीएम पत्नी का दिल्ली में हुआ इलाज

By: lokesh verma

Published: 13 Jul 2020, 01:26 PM IST

गाजियाबाद. कोरोना के खिलाफ जंग में संक्रमित होने वाले एडीएम सिटी शैलेंद्र प्रताप सिंह और उनकी पत्नी जेवर एसडीएमगुंजा सिंह ने कोरोना को हरा दिया है। दोनों ही अब पूरी तरह स्वस्थ हैं। बताया जा रहा है कि सोमवार को ही दोनों को डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। उम्मीद है कि मंगलवार से ही शैलेंद्र प्रताप सिंह अपना कार्यभार संभालेंगे।

यह भी पढ़ें- सहारनपुर में मास्क नहीं लगाने वालों काे अनोखी सजा, सजा पाने वाले बाेले थैंक्यू पुलिस

आपको बताते चलें कि गाजियाबाद के एडीएम सिटी शैलेंद्र प्रताप सिंह बेहद कर्मठ प्रशासनिक अधिकारी हैं। उधर, उनकी पत्नी गुंजा सिंह जो कि एसडीएम जेवर है। उन्हें भी कर्मठ प्रशासनिक अधिकारी माना जाता है। जिस दौरान श्रमिकों का पलायन हुआ उस दौरान पूरी कमान एडीएम सिटी शैलेंद्र प्रताप सिंह नहीं संभाली हुई थी। श्रमिकों के खाने से लेकर उनके गंतव्य तक पहुंचाए जाने का जिम्मा शैलेंद्र प्रताप सिंह नहीं संभाला था। लॉकडाउन के दौरान लोगों को परमिशन भी शैलेंद्र प्रताप सिंह द्वारा ही दी जा रही थी। रात-दिन शैलेंद्र प्रताप सिंह द्वारा बखूबी ढंग से इस दौरान कई कार्यों को पूरा किया गया।

उधर, उनकी पत्नी गुंजा सिंह भी लॉकडाउन के दौरान सभी जगह की स्थिति का जायजा ले रही थी, जितने भी मरीज कोविड-19 संक्रमित होते थे। उनकी देखरेख के लिए भी वह स्वयं ही मौके पर पहुंचकर पूरी स्थिति का जायजा ले रही थीं, लेकिन अचानक ही दोनों पति-पत्नी कोविड-19 संक्रमित हो गए। इसके बाद एडीएम सिटी शैलेंद्र प्रताप सिंह को कौशांबी स्थित यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया। जबकि उनकी पत्नी गुंजा सिंह को दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं इनके संपर्क में रहने वाले 14 अन्य लोगों को भी क्वारंटीन किया गया।

जैसे ही इन दोनों के कोविड-19 संक्रमित होने की सूचना लोगों को मिली तो प्रशासनिक गलियारे में भी डर का माहौल हो गया और हर कोई अपने आप को सुरक्षित रखते हुए ड्यूटी निभा रहा है। इन दोनों के कोविड-19 संक्रमित होने के बाद दवा और सभी शुभचिंतकों की दुआओं का ही असर दिखाई दिया, जिसके चलते दोनों ने ही अब कोरोना को मात दे दी है, लेकिन 14 दिन उनके परिवार के लिए बेहद टेंशन भरे गुजरे हैं। क्योंकि आपस में भी यह नहीं मिल सके थे और उधर बच्चों को भी इनसे अलग रखा गया था। अब दोनों ही पूरी तरह स्वस्थ है और दोनों को ही डिस्चार्ज कर घर भेजा जा रहा है।

यह भी पढ़ें- चीन को सबक सिखाने के लिए 100 एकड़ में बनेगी शानदार टॉय सिटी तो 10 एकड़ में बनेगा आधुनिक चिल्ड्रन पार्क

coronavirus
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned