जब ढाबे पर खाना खा रहे दो लोगों ने मांगा पानी तो चली गोलियां और फिर...

घटना के बाद दो लोग गंभीर रूप से घायल हैं, जबकि तीसरा व्यक्ति भी घायल है।

By:

Published: 23 May 2018, 08:54 PM IST

गाजियाबाद। शहर में मामूली बात पर दो लोगों को गोली मार दी गई । विवाद ढाबे पर पानी पीने को लेकर हुआ था। मामला सिहानी गेट थाना क्षेत्र में मेरठ रोड के एक ढाबे का है। दोनों लोग अस्पताल में जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे हैं। दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिन्होंने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है।

यह भी पढ़ें-कैराना-नूरपुर उपचुनाव में अब भाजपा ने इस जिले के नेताओं को भी उतारा, गांव-गांव जाकर मांग रहे वोट

दरअसल गाजियाबाद में गर्मी के मौसम में पानी को लेकर खून खराबा हुआ है । एनसीआर में यह भी हो सकता है, किसी ने सोचा नहीं था। लेकिन एनसीआर का सच यही है । गाजियाबाद के सिहानी गेट थाना क्षेत्र के एक ढाबे पर गोलियां चलीं। आरोप ढाबा मालिक पर है। यहां पर दो लोग खाना खाने के लिए आए थे। उन्होंने जब पानी मांगा तो विवाद हो गया और ढाबा मालिक ने अवैध तमंचे से फायर कर दिया । दो लोगों को गोली लगी और एक शख्स के साथ मारपीट की गई। तीनों को अस्पताल में ले जाया गया, जहां पर गोली लगे दोनों लोगों की हालत गंभीर है। मामले में पकड़े गए आरोपी ने कुबूल किया है कि उसके पास अवैध तमंचा था। जिससे फायर किया गया।

यह भी पढ़ें-कर्नाटक के बाद अब इन सीटों पर भाजपा को पटखनी देने पर हैं विरोधी दलों की निगाहें

ढाबा मालिक से जुड़े लोग इसे दूसरी कहानी बता रहे हैं। उनका कहना है कि विवाद उस समय शुरू हुआ, जब खाने के पैसे को लेकर तनातनी शुरू हुई। इसे पैसे के लेनदेन का झगड़ा बताया जा रहा है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया और मामले की जांच की बात कह रही है। कुछ अन्य लड़के भी ढाबे पर बुलाए गए थे, उनकी तलाश की जा रही है।

यह भी देखें-खोड़ा नगर पालिका अध्यक्ष के रिश्तेदार ने अधिकारी पर तान दी पिस्टल

विवाद चाहे पानी पीने को लेकर हुआ हो या फिर पैसे के लेनदेन को लेकर, बात मामूली सी थी। जिसमें गोली चलना यह दर्शाता है, कि एनसीआर में लोग मामूली बात पर इतने गुस्से में आ जाते हैं कि वे एक दूसरे पर जानलेवा हमला करने से भी नहीं चूकते।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned