हॉस्टल में पंखे से लटका मिला बीटेक के मेधावी छात्र का शव, मचा हड़कंप

Highlights

- दिल्ली-मेरठ मार्ग पर स्थित गांव असालतनगर के एक निजी हॉस्टल की घटना

- प्रयागराज का रहने वाला था मृतक छात्र

- पुलिस आत्महत्या समेत कई ऐंगल से जांच में जुटी

By: lokesh verma

Published: 07 Mar 2021, 11:25 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
गाजियाबाद. दिल्ली-मेरठ मार्ग पर गांव असालतनगर स्थित एक निजी हॉस्टल में बीटेक के एक छात्र का शव पंखे से संदिग्ध परिस्थितियों में लटका मिला है। बताया जा रहा है कि रूम पार्टनर पहुंचा तो कमरे का दरवाजा लॉक था। जब काफी देर तक दरवाजा नहीं खुला तो उसने खिड़की से झांककर देखा कि 23 वर्षीय शिवानंद मिश्रा का शव पंखे से लटका हुआ है। जैसे ही रूम पार्टनर रितांश ने यह मंजर देखा तो उसकी चीख निकल गई और आसपास के लोग भी मौके पर दौड़ पड़े। आनन-फानन में इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और पूरे मामले की जांच में जुट गई। हालांकि मृतक के पास से किसी तरह का कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है।

यह भी पढ़ें- बेटे ने सर्राफ पिता को गोली मारकर उतारा मौत के घाट, पुलिस पर भी की फायरिंग

दरअसल, प्रयागराज की कालंदी कॉलोनी निवासी आदित्य नारायण मिश्रा यूपी पुलिस में कांस्टेबल पद पर तैनात हैं। इन दिनों उनकी मिजार्पुर में तैनाती है। उनका पुत्र शिवानंद मिश्रा (23 वर्ष) दिल्ली मेरठ मार्ग पर काईट संस्थान में द्वितीय वर्ष का छात्र था। वह कॉलेज के सामने स्थित कॉलोनी में बने व्हाहट हाउस नाम के निजी हॉस्टल में एफ-23 कमरे में रहकर पढ़ाई कर रहा था। उसके साथ रितांश नाम छात्र भी रुम पार्टनर था। रितांश ने बताया कि शाम शनिवार 4.30 बजे के आसपास शिवानंद यह कहकर गया था कि वह पास के खाली पड़े कमरे में पढ़ाई करने के लिए जा रहा है। काफी देर बीत जाने के बाद भी जब वह वापस नहीं आया तो रूम पार्टनर ने पास वाले कमरे में खिड़की से झांककर देखा तो वह हक्का-बक्का रह गया कि शिवानंद का शव पंखे से लटका हुआ था। यह देखकर रितांश की चीख निकल गई। चीख पुकार सुन मौके पर पहुंचे अन्य लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़ा और उसे नीचे उतारा और चिकित्सक को मौके पर बुलाया। चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया।

एसपी देहात डॉक्टर ईराज राजा ने बताया कि शव के पास से कोई सुसाइट नोट बरामद नहीं हुआ है। छात्र का कमरा सील कर दिया गया है। कमरे की तलाशी लेने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। छात्र के साथ रहने वाले छात्रों से भी पूछताछ की जा रही है। वहीं, काईट कॉलेज के प्रशासनिक अधिकारी ने बताया कि मृतक छात्र पढ़ाई में काफी होशियार था। प्रथम वर्ष में छात्र 86 प्रतिशत अंकर आए थे। छात्र निजी हॉस्टल में रहता था। उसने आत्महत्या क्यो की है? इस पूरे मामले की गहन जांच में पुलिस जुटी हुई है।

यह भी पढ़ें- एसजीपीजीआई की नई तकनीक है बच्चों के लिए वरदान, नहीं होगी खून की उल्टी, जानें क्या है वेनिस बाइंडिंग तकनीक

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned