World Environment Day: देश में सबसे प्रदूषित शहरों में दूसरे नंबर पर है यूपी का यह महानगर

World Environment Day: देश में सबसे प्रदूषित शहरों में दूसरे नंबर पर है यूपी का यह महानगर

Nitin Sharma | Updated: 04 Jun 2019, 04:23:43 PM (IST) Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

मुख्य बिंदु

  • गंदी हवा और कण भरी धूल से परेशान हुए लोग
  • प्रशासन ने शुरू की कार्रवाई, तीन फैक्ट्री की सील
  • ईट के भट्टा को भी बंद करने के दिये आदेश

गाजियाबाद। पर्यावरण को शुद्ध बनाये रखने के लिए सरकार तमाम तरह के जागरुकता अभियान से लेकर पेड़ पौधे लगाने में करोड़ों रुपये खर्च कर रही है। पांच जून को पर्यावरण दिवस भी हैं। इस अवसर पर स्कूल से लेकर सरकारी विभागों में पर्यावरण को लेकर प्रोग्राम है, लेकिन इससे एक दिन पहले प्रदूषण विभाग से मिली इस रिपोर्ट ने गाजियाद को प्रदूषण में दूसरा नंबर दिया है। यानि यूपी के महानगरों में शामिल गाजियाबाद सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों में दूसरे स्थान पर है। वहीं इसमें लोनी इलाका सबसे ज्यादा प्रदूषित है। यहां पर तमाम ऐसी फैक्ट्री और भट्टे चल रहे हैं । जिनके कारण लगातार प्रदूषण में इजाफा हो रहा है।

लोकसभा चुनाव की जीत के दस दिन बाद आजम खान ने दिया इस्तीफा

demo pic

हवा में धूल के कण ज्यादा होने से सांस की समस्या

पिछले 2 दिन से गाजियाबाद में धूल भरी हवा चल रही है। जिसमें खासतौर से धूल के कण ज्यादा होने के कारण लोगों को सांस लेने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सोमवार को देश भर में लोनी और गाजियाबाद शहर पूरी तरह रेड जोन में रहा। लोनी का क्यूआई 336 और गाजियाबाद का क्यूआई 309 रिकॉर्ड दर्ज किया गया। वर्तमान क्यूआई को मानकों के हिसाब से देखा जाए, तो यह करीब 3 गुना ज्यादा है। लगातार गाजियाबाद प्रदूषण के मामले में नंबर वन या नंबर दो पर रहा है । हालांकि प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा इसे लेकर कई बार बड़ी कार्रवाई करते हुए, सैकड़ों की संख्या में लोनी इलाके में फैक्ट्रियों को सील किया गया। और कुछ को ध्वस्त भी किया गया है।

 

DEMO PIC

प्रदूषण को लेकर प्रशासन गंभीर

इस पूरे मामले में गाजियाबाद की जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी का कहना है कि गाजियाबाद में लगातार प्रदूषण बढऩे को लेकर प्रशासन गंभीर है। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा कई स्तर पर बड़ी कार्रवाई भी की जा रही है ।उन्होंने बताया कि लगातार प्रदूषण बढऩे के कारण लोनी इलाके में सोमवार को अवैध रूप से चल रही तीन फैक्ट्री सील की गई। इनमें एक फैक्ट्री धवस्त भी की गई है। वहीं अधिकारियों ने बताया कि जल्द ही ईट के भट्टों को भी बंद कराया जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि सोमवार को ही पूरी टीम भनेड़ा गांव पहुंची और लोनी एसडीएम आदित्य प्रजापति की मौजूदगी में एक ईट भट्टे पर बड़ी कार्रवाई करते हुए। उसमें पानी भरवा दिया। जिसे वहां धूल ज्यादा ना उड़े और वायु प्रदूषण न फैले।

 

dm ghaziabad

फैक्ट्री मालिकों को भी भेजा गया नोटिस

अधिकारियों ने बताया कि सबसे ज्यादा प्रदूषण का कारण जनपद में खुले में चलाए जा रहे जनरेटर सेट और यहां स्थित तमाम ऐसी फैक्ट्रियां है। जिनमें से निकलने वाला पानी प्रदूषित होता है। वह भी नालियों के अंदर डाला जाता है। इससे जल प्रदूषण बढ़ता है। इसे रोकने के लिए फैक्ट्री संचालकों को नोटिस भेजा गया है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned