कोविड महामारी में संजीवनी साबित होगी मेडिकल इक्विपमेंट बस, डीएम ने झण्डी दिखाकर किया रवाना

Covid Epidemic के बीच यूथ रूरल इंटरपेन्योर द्वारा सीएमओ गाज़ीपुर को दी गई सौगात, जीवन रक्षक यंत्र, कोविड किट (Covid-19 Kit) और सभी मेडिकल सुविधाओ के साथ मोबाइल वैन लैस

By: Neeraj Patel

Published: 04 May 2021, 01:33 PM IST

गाजीपुर. कोरोना महामारी (Covid Epidemic) संकट के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सरकार का साथ देने के लिए सामाजिक संस्थाएं भी आगे आने लगी है। इसी क्रम में रूरल फाउंडेशन और अम्मा फाउंडेशन के सहयोग से गाजीपुर में कोरोना संक्रमण (Corona Virus) की रोकथाम करने के लिए एक मेडिकल इक्विपमेंट बस स्वास्थ्य विभाग को सुपुर्द किया है। इस बस के माध्यम से दूरदराज और ग्रामीण क्षेत्रों के साथ कोरोना महमारी से जूझ रहे लोगों की सेवा के लिए आई है। जो गाजीपुर मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निर्देशन में कुशल डॉक्टरों की देखरेख में चलाई जाएगी।

कोरोना संकट से निपटने के लिए इस मोबाइल वैन (Mobile Van) में वेंटिलेटर ऑक्सीजन और बहुत सारी सुविधाएं उपलब्ध है। इसके साथ ही एक एंबुलेंस भी चलाई जा रही है। जिसमें कोविड की जांच भी की जाएगी और मुफ्त दवाएं मास्क और सैनिटाइजर भी बांटे जाएंगे। जिसका जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी और यूथ रूरल फाउंडेशन के प्रबंधक ने संयुक्त रूप से हरी झंडी दिखाकर मोबाइल वाहन को रवाना किया।

जनता भी करें कोविड-19 से लड़ने में मदद

इस दौरान डीएम मंगला प्रसाद सिंह ने बताया की कोरोना महामारी के वक्त सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाने के लिए सामाजिक संस्थाएं भी आ गई हैं और यूथ फाउंडेशन की ओर से एक इस तरह की मोबाइल वाहन और हवा से ऑक्सीजन बनाने वाला कंसंट्रेटेड, मास्क, एंटी जन किट और कोविड-19 प्रोटोकॉल में यूज होने वाले तमाम उपकरण संस्था द्वारा दिए गए जो कि एक बड़ी मदद है। वहीं उन्होंने जनता से भी अपील किया कि जन सहयोग के बिना कुछ भी संभव नहीं है। इसलिए जनता इस काम में आगे आए और कोविड-19 से लड़ने में मदद करे।

ये भी पढ़ें - आईआईटी के वरिष्ठ वैज्ञानिक ने किया दावा, 20 मई के बाद कमजोर पड़ेगी कोरोना की दूसरी लहर

इन खास चीजों से लैस है मेडिकल इक्विपमेंट बस

सीएमओ गिरीश चंद्र मौर्या ने बताया कि इस बस में वेंटिलेटर ऑक्सीजन लगा हुआ है। साथ ही ऑक्सीजन के साथ ही जीवन रक्षक यंत्र एंटी एंटीजन किट, अल्ट्रासाउंड आदि से लैस वैन है। जो डीएम के निर्देशन पर जिले में घूम घूम कर कोरोना मरीजों का इलाज और जांच करेगी। इस मौके पर संस्था के मैनेजर विकास ने बताया कि हमारी संस्था केरला के अम्मा फाउंडेशन की मदद से इस मोबाइल वैन के जरिए गाजीपुर के दूर सुदूर इलाके में जिला अधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निर्देशन पर कार्य करेगी और सब कुछ निशुल्क रहेगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में इस तरह की और भी मोबाइल और भी सामान संस्था के द्वारा जनपद को समर्पित किया जाएगा।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned