बिहार की सड़कों पर लगा पोस्टर, 'लालू परिवार को बताया बिहार पर भार', लगाने वाले का जिक्र नहीं

बिहार चुनाव से पूर्व सियासी घमासान को नया कलेवर देने के लिए पोस्टरवार शुरु हो गया है (Lalu Family Burden On Bihar Poster Said Which Showed In Patna) (Bihar News) (Patna News) (Gopalganj News) (Lalu Yadav) (Tejashwi Yadav) (Tej Pratap Yadav)...

By: Prateek

Published: 19 Sep 2020, 07:56 PM IST

प्रियरंजन भारती...
पटना,गोपालगंज: बिहार चुनाव से पूर्व सियासी घमासान को नया कलेवर देने के लिए पोस्टरवार शुरु हो गया है। मिलने-मिलाने के दौर के बीच पोस्टवार सियासत की नई पटकथा लिख देने का जरिया बन गया है। राजधानी पटना के इनकम टैक्स चौराहे पर लगा एक पोस्टर शनिवार की सुबह चर्चा का विषय बन गया है। पोस्टर के माध्यम से बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव और उनके परिवार पर कटाक्ष किया गया। पोस्टर किसके द्वारा लगाया गया है? इस बात का जिक्र नहीं है।

यह भी पढ़ें: IPL 2020 : Mumbai Indians के खिलाफ Chennai Super Kings ने जीता टॉस, पहले गेंदबाजी चुनी

पोस्टर में लालू यादव और उनका परिवार...

बिहार की सड़कों पर लगा पोस्टर, 'लालू परिवार को बताया बिहार पर भार', लगाने वाले का जिक्र नहीं

पटना के व्यस्ततम चौराहे इनकम टैक्स पर लगा पोस्टर लोगों का ध्यान खींच रहा है। पोस्टर में लालू यादव के साथ नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव, बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और राज्यसभा सदस्य मीसा भारती का भी चेहरा दिखाई दे रहा है।

यह भी पढ़ें: NIA ने Al-Qaeda के 9 आतंकियों को किया गिरफ्तार, बड़ी साजिश नाकाम, दिल्ली-कोच्चि को दहलाने की थी योजना

लालू का बड़ा तो स्वजनों का लगाया छोटा फोटो

पोस्टर में सीधे तौर पर लालू परिवार पर निशाना साधा गया है। लालू यादव की बड़ी तस्वीर के साथ लिखा है-'एक ऐसा परिवार जो बिहार पर भार'। इसके साथ ही लालू यादव पर भी कटाक्ष किया गया है। लिखा है-'सजायाफ्ता कैदी नंबर 3351'। पोस्टर में लालू यादव का बड़ा तो उनके स्वजनों का छोटा फोटो लगाया गया है।

यह भी पढ़ें: Bihar Assembly Election : भाकपा माले ने तेजस्वी की बढ़ाई टेंशन, सीट शेयरिंग पर कांग्रेस झुकने को तैयार नहीं

पहले भी दिखते रहे हैं पोस्टर

लालू परिवार पर हमला करते हुए इस तरह के पोस्टर पूर्व में समय-समय पर आयकर गोलंबर पर दिखते रहे हैं। लालू-राबड़ी शासनकाल के पंद्रह साल और नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले पंद्रह साल को संबंधित शासन काल की घटनाओं व प्रतीक के साथ दिखाया जा चुका है। उन पोस्टरों के जबाव में राजद द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर हमला करते हुए पोस्टर दिखते रहे हैं। विधानसभा चुनाव के दौरान पोस्टरवार और भी बिगड़ैल स्वरूप में दिखने के आसार हैं। राजनीतिक रूप से संवेदनशील बिहार में पोस्टरवार सियासी प्रतिद्वंदियों पर सियासी हमले का एक सशक्त जरिया बन गया है।


ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

Bihar Election
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned