देश के सबसे बड़े एयरपोर्ट को शिफ्ट होने से बचाने के लिए सड़कों पर उतरा बीजेपी का यह विधायक

देश के सबसे बड़े एयरपोर्ट को शिफ्ट होने से बचाने के लिए सड़कों पर उतरा बीजेपी का यह विधायक

Virendra Sharma | Publish: Sep, 02 2018 03:35:27 PM (IST) Greater Noida, Uttar Pradesh, India

एयरपोर्ट के लिए जमीन को लेकर अभी अटका है मामला

ग्रेटर नोएडा. देश के सबसे बड़े एयरपोर्ट के लिए जमीन देने के लिए किसान अभी तक तैयार नहीं हुए है। जमीन को लेकर किसानों और जिले के अधिकारियों केे बीच में लगातार मीटिंग की जा रही है। अभी तक 9,157 किसानों में से 575 किसानों ने ही जमीन देने पर सहमति दी है। उधर, नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने यूपी सरकार को 31 अगस्त तक 70 प्रतिशत किसानों से सहमति लेने की बात कही थी। नागरिक उड्डयन मंत्रालय 12 सितंबर को यूपी सरकार, यमुना अथॉरिटी और जिला प्रशासन के साथ सहमति को लेकर मीटिंग करेगा। इस दौरान किसानों की सहमति की रिपोर्ट जिला प्रशासन से नागरिक उड्डयन मंत्रालय लेगा।

यह भी पढ़ें: यूपी के इस जिले में ही बनेगा देश का सबसे बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट

किसानों को जमीन देने के लिए मनाने का दौरा जारी

प्रशासन की तरफ से अभी भी किसानों को मनाने का दौर जारी है। एक तरफ जहां जिला प्रशासन किसानों को सहमति देने के लिए तैयार कर रहे है। वहीं बीजेपी नेता भी। जेवर विधानसभा के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह किसानों के बीच जा रहे है। इस दौरान किसानों को एयरपोर्ट के निर्माण से होने वाले फायदे के बारे में भी किसानों को अवगत करा रहे है। जेवर के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने शनिवार को रोही, नगला फूल खां, नगला छीतर, किशोरपुर, नगला शरीफ व बनवारीवास गांव में किसानों के साथ मीटिग की।

विधायक ने किसानों को बताए एयरपोर्ट निर्माण के फायदे

मीटिंग के दौरान उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट के निर्माण के बाद जेवर को पूरी दुनिया में नाम होगा। अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान के साथ देश के अन्य शहरों को भी जेवर पीछे छोड़ देगा। उन्होंने कहा कि अगर एयरपोर्ट का निर्माण नहीं होता है तो पछतावे के लिए कुछ और नहीं होगा। उन्होंने किसानों को एयरपोर्ट की दिशा में पॉजोटिव कदम उठाने के लिए कहा है। किसानों ने अपने विस्थापन की समस्यायें रखा। विधायक ने उनकी सुविधानुसार जगह चिन्हित करने व अन्य सभी लाभ दिये जाने का आश्वासन दिया। बनवारीवास में ग्राम प्रधान श्री त्रिलोक चंद शर्मा के आवास पर एकत्रित किसानों ने सरकार से ओर अधिक लाभ दिलवाये जाने को कहा व मुआवजे के पैसे से अन्यत्र जमीन खरीदे जाने के लिए स्टाम्प शुल्क में छूट का प्रस्ताव रखा।

नहीं मिली जमीन तो हो सकता है एयरपोर्ट शिफ्ट

यूपी में सत्ता में आते ही बीजेपी ने जेवर एयरपोर्ट के निर्माण को हरी झंडी दी थी। योगी सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद में केंद्र सरकर ने निर्माण की दशा में कदम बढ़ाया था। केंद्र सरकार की तरफ से निर्माण को लेकर तैयारी की जा रही है। वहीं अभी तक किसान जमीन देने के लिए राजी नहीं है। अगर जल्द ही किसान राजी नहीं हुए तो एयरपोर्ट शिफ्ट हो सकता है। दरअसल में राजस्थान सरकार एयरपोर्ट के निर्माण को लेकर तैयारी में है।

इस मौके पर भगवान सिंह प्रधान, तेजवीर सिंह प्रधान किशोरपुर, शैलेन्द्र सिंह प्रधान बंकापुर, लालमन सिंह प्रधान चैरोली, त्रिलोकचंद शर्मा प्रधान बनवारीवास, शिवारा के पूर्व प्रधान श्री धर्मेन्द्र सिंह, विजय सिंह प्रधान, हंसराज सिंह, योगेन्द्र सिंह छौंकर, बाॅबी शर्मा, सतीश शर्मा, महेश प्रधान व प्रताप सिंह फौजी, जहूर खांन, निजामुददीन खांन, बल्लन खांन, अफसर खांन, अबरार खांन, हसीन खांन, रूकमुददीन खांन सुम्मर खांन, मंजूर खांन, ताज खां, शौकीन खांन, रफीक खांन व शादाब खांन के अलावा पार्टी के सुशील शर्मा, तारा सिंह प्रधान जी, योगजीत सिंह, योगेश पौरूष, डा0 चन्दर सिंह, विकास सिंह आदि लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: India post payments bank के तहत घर बैठे बैकिंग सुविधा, जानिए खास बातें

Ad Block is Banned