Saudi Arabia: महिला अधिकार कार्यकर्ता Loujain al-Hathloul ने जेल में शुरू की भूख हड़ताल

HIGHLIGHTS

  • महिला अधिकार कार्यकर्ता लुजैन अल-हथलौल ( Loujain al-Hathloul ) ने कारावास के अंदर ही भूख हड़ताल शुरू ( Hunger Strike In Detention ) कर दी है।
  • लुजैन की बहन लीना ने कहा कि रियाद की अल-हेयर जेल में बंद हथलौल ने अपने परिवार से नियमित रूप से मिलने-जुलने की अनुमति देने की मांग की है।

By: Anil Kumar

Updated: 29 Oct 2020, 02:15 AM IST

बेरुत। करीब दो साल से जेल में बंद सऊदी अरब की प्रमुख महिला अधिकार कार्यकर्ता लुजैन अल-हथलौल ( Loujain al-Hathloul ) ने कारावास के अंदर ही भूख हड़ताल शुरू ( Hunger Strike In Detention ) कर दी है। हथलौल के परिवार ने कहा है कि लुजैन ने यह हड़ताल अपनी हिरासत की शर्तों में बदलाव के लिए की है।

हथलौल लगातर प्रशासन से अपनी हिरासत की शर्तों को बदलने की मांग कर रही है। लुजैन की बहन लीना ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से बात करते हुए कहा कि रियाद की अल-हेयर जेल में बंद लुजैन ने अपने परिवार से नियमित रूप से मिलने-जुलने की अनुमति देने की मांग की है।

सऊदी अरब के युवराज सलमान ने जमाल खागोशी की हत्या की बात कबूली, कहा- मेरी देखरेख में हत्या को अंजाम दिया गया

लीना ने आगे कहा कि जेल अधिकारियों ने चार महीनों तक लुजैन को उनके परिवार से मिलने नहीं दिया था, तब इस साल अगस्त में उन्होंने छह दिनों की भूख हड़ताल की थी। बता दें कि लुजैन 2018 से सऊदी अरब की हिरासत में है।

loujain_al-hathloul.png

इस वजह से हुई थी लुजैन की गिरफ्तारी

बता दें कि लुजैन कई तरह के आरोप लगाए गए हैं। इनमें सबसे प्रमुख आरोप सऊदी अरब में 15 से 20 विदेशी पत्रकारों के साथ संवाद करना, संयुक्त राष्ट्र में नौकरी के लिए आवेदन करने का प्रयास करना और डिजिटल प्राइवेसी ट्रेनिंग में भाग लेना शामिल है।

लुजैन की गिरफ्तारी का मामला अब पूरी दुनिया में सुर्खियां बन गई हैं। पूरे विश्व का ध्यान एक बार फिर से सऊदी अरब की ओर खीच गया है, क्योंकि इससे पहले पत्रकार जमाल खशोगी की 2018 में इस्तांबुल दूतावास में हत्या की गई थी और अब इस मामले ने यूरोपीय दिशों व अमरीकी कांग्रेस के गुस्से को भड़का दिया है।

जमाल खशोगी हत्याकांड: सऊदी प्रिंस सलमान का U-Turn, कहा- खशोगी की हत्या का आदेश मैंने नहीं दिया

सऊदी अधिकारियो ने लुजैन समेत एक दर्जन से अधिक महिला अधिकारों के लिए लड़ने वाली कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया था। लुजैन की बहन ने लीना ने बताया है कि उन्हें परिवार से मिलना सीमित कर दिया है। इस साल 23 मार्च को वह अपनी बहन से मिली थी, उसके बाद 19 अप्रैल को फोन पर बात हुई थी और फिर 31 अगस्त को अंतिम बार मुलाकात हुई थी।

बीते सोमवार को लुजैन को उनके माता-पिता से मिलने की अनुमति दी गई थी। तब उन्होंने बताया था कि उसके साथ जेल प्रशासन किस तरह से दुर्व्यवहार करते हैं। लुजैन ने बताया कि जेल प्रशासन की इस हरकत के खिलाफ वे कल शाम से भूख हड़ताल करेंगी। वह तब तक भूख हड़ताल करेंगी जब तक कि फिर से उनके परिजनों से उन्हें मिलने की इजाजत नहीं दी जाती है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned