भारत के इन राज्यों में नेटवर्क फैला रहा आतंकी संगठन JMB, स्लीपर सेल की गतिविधियां बढ़ी

Jamaat Ul Mujahideen: भारत के इन राज्यों में आतंकी संगठन (JMB) पैर पसार रहा है, कई हार्डकोर आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद यह बात सामने आई है और स्लीपर सेल (Jamaat Ul Mujahideen Sleeper Cell) की धरपकड़ के लिए पुलिस (Assam News) ने अभियान (Karnataka News) शुरू (Bengaluru News) कर दिया है...

(गुवाहाटी,राजीव कुमार): निचले असम के बरपेटा जिले में बांग्लादेश के आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिद्दीन (JMB) ने व्यापक नेटवर्क बनाया है। जिले के विभिन्न प्रांतों में संगठन अनेक युवकों को स्लीपर सेल के रुप में जोडक़र कामकाज कर रहा है। आतंकी संगठन को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए (Assam Police) पुलिस ने व्यापक अभियान शुरु किया है। इसी सिलसिले में बरपेटा पुलिस ने जेएमबी के अनेक मोस्ट वांटेड सदस्यों को गिरफ्तार किया है। इसके बाद ही इसके व्यापक नेटवर्क बनाने की बात सामने आई है।


अल्पसंख्यक बहुल इलाकों को बनाया अड्डा...

 

Jamaat Ul Mujahideen,JMB,Jamat Ul Mujahideen Sleeper Cell,Assam News,Karnataka News,Bengaluru News

बरपेटा के पुलिस अधीक्षक डा.रबीन कुमार ने कहा कि हाल ही में जेएमबी कैडर अजाहरुद्दीन अहमद को गिरफ्तार किया गया है। संगठन ने बरपेटा जिले के रोउमारी, चतला, चापरबड़ी, कारागाडि़ जैसे अल्पसंख्यक बहुल इलाकों में सांगठनिक कामकाज व्यापक स्तर पर शरू किया है।

मोस्ट वांटेड गिरफ्तार

अजाहरुद्दीन पिछले पांच सालों से बरपेटा पुलिस का मोस्ट वांटेड अपराधी था। पुलिस उसे तलाश रही थी। वह बाहरी राज्य में जाकर छिपा था। जब वह हैदराबाद से बरपेटा जिले के अपने ताराबाड़ी गांव जा रहा था तब पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर धर दबोचा। पुलिस ने गिरफ्तार अजहरुद्दीन से ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, दो पैन कार्ड, एक एटीएम, गोवा में बनाए पासपोर्ट को जब्त किया है।


पुलिस अधीक्षक के अनुसार उसने 2014 में ही जेएमबी का प्रशिक्षण लिया था। उसने बरपेटा के चतला और पश्चिम बंगाल में प्रशिक्षण लिया था। राष्ट्रीय जांच एजेंसी(एनआईए) के हाथों गिरफ्तार हुए शाहानूर के साथ भी अजहरुद्दीन का संपर्क था। शाहानूर के घर ही उसने प्रशिक्षण लिया था। पश्चिम बंगाल के वर्धमान विस्फोट के साथ भी उसके जुड़े रहने की आशंका है। इसके बारे में बंगाल एसटीएफ से बरपेटा पुलिस ने संपर्क साधा है। फिलहाल अजहरुद्दीन से पुलिस पूछताछ जारी है। बरपेटा का रोउमारी गांव जेएमबी सदस्यों का अड्डा है। रोउमारी गांव का सहिदूल आलम फिलहाल वर्धमान विस्फोट मामले में बंगाल की जेल में बंद है। इस गांव के गोलाम उस्मानी, कछिमुद्दीन, आकरम अली पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं।


कर्नाटक में भी सक्रिय जेएमबी

 

Jamaat Ul Mujahideen,JMB,Jamat Ul Mujahideen Sleeper Cell,Assam News,Karnataka News,Bengaluru News

असम ही नहीं बेंगलूरु और मैसूरु में भी जेएमबी के आतंकी स्लीपर सेल सक्रिय होने की बात सामने आई है। कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने स्लीपर सेल सक्रिय होने और तटीय इलाकों और बंगाल की खाड़ी में उनकी गतिविधियां बढ़ने के संकेत मिलने का खुलासा किया है। बोम्मई ने शुक्रवार को बताया कि एनआइए (NIA) ने जमात उल मुजाहिदीन के संदिग्धों की हरकतों के बारे में पता लगाया है। उनकी गतिविधियां कर्नाटक के तटीय इलाकों के साथ ही राज्य के अंदरूनी हिस्सों में भी देखी गई है। उन्होंने यह भी कहा कि इस तरह के इनपुट मिलने के बाद पुलिस पूरी तरह चौकन्नी हो गई है। सार्वजनिक स्थानों पर सतर्कता बरती जा रही है। संदिगध व्यक्तियों की पहचान करने के साथ ही उनके बारे में जानकारी एकत्र कर गहराई से विशलेषण किया जा रहा है। बेंगलुरु के पास से जेएमबी के संदिग्ध पकड़े जाने के बाद गृहमंत्री ने बीते दिनों बेंगलुरु के लिए अलग से एटीएस गठित करने की घोषणा की थी।

असम की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: पेरेंट्स ने गेम खेलने से मना किया तो घर से भागा किशोर, पुलिस ने इस हालत में पकड़ा

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned