scriptचक्रवात के साथ तबाही मचाएगा पश्चिमी विक्षोभ, तीन चार दिन फिर मौसम बिगड़ने का अलर्ट | Alert of impact of Arabian Sea cyclone and western disturbance in MP | Patrika News

चक्रवात के साथ तबाही मचाएगा पश्चिमी विक्षोभ, तीन चार दिन फिर मौसम बिगड़ने का अलर्ट

locationग्वालियरPublished: Jan 26, 2024 12:39:46 pm

Submitted by:

deepak deewan

एमपी में मौसम में उतार चढ़ाव का दौर जारी है। उत्तर भारत की ओर बढ़ रहा पश्चिमी विक्षोभ खूब असर दिखा रहा है। इससे हवा का रुख बदला है जिससे रात में पारा कुछ चढ़ रहा है, तापमान में आंशिक बढ़ोत्तरी हो रही है। शुक्रवार से दिन के तापमान में भी बढ़ोतरी होने के आसार हैं। इससे कड़ाके की ठंड से आंशिक राहत मिल सकती है लेकिन कुछ ही दिनों में मौसम फिर बिगड़नेवाला है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अरब सागर और मध्य महाराष्ट्र में सक्रिय चक्रवात और नए पश्चिमी विक्षोभ के असर से मौसम में यह बदलाव होगा।

arbian_sea.png

एमपी में मौसम में उतार चढ़ाव का दौर

एमपी में मौसम में उतार चढ़ाव का दौर जारी है। उत्तर भारत की ओर बढ़ रहा पश्चिमी विक्षोभ खूब असर दिखा रहा है। इससे हवा का रुख बदला है जिससे रात में पारा कुछ चढ़ रहा है, तापमान में आंशिक बढ़ोत्तरी हो रही है। शुक्रवार से दिन के तापमान में भी बढ़ोतरी होने के आसार हैं। इससे कड़ाके की ठंड से आंशिक राहत मिल सकती है लेकिन कुछ ही दिनों में मौसम फिर बिगड़नेवाला है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अरब सागर और मध्य महाराष्ट्र में सक्रिय चक्रवात और नए पश्चिमी विक्षोभ के असर से मौसम में यह बदलाव होगा।

यह भी पढ़ेंः जांघ से दिल में पहुंचा दी डिवाइस, एम्स के डॉक्टर्स ने दिखाया कमाल, बचाई बच्ची की जान

मौसम विज्ञान केंद्र की जानकारी के अनुसार अभी अफगानिस्तान- पाकिस्तान पर एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। इसके कारण दक्षिणी और दक्षिण पूर्वी हवाओं से तापमान में आंशिक बढ़ोतरी हो रही है। अरब सागर और मध्य महाराष्ट्र में एक चक्रवात सक्रिय है। चक्रवात से छत्तीसगढ़ तक द्रोणिका के कारण ऊंचाई पर बादल छा रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः दिव्यांग सतेंद्र का गजब का हौसला, महज 15 घंटों में पार कर लिया नार्थ चैनल, अब मिला पद्मश्री

इधर 27 जनवरी को नया पश्चिमी विक्षोभ भी बनेगा जोकि उत्तर भारत तक पहुंचेगा। इससे तीन चार दिन तक मौसम बिगड़ा रहेगा, दिन तथा रात के तापमान में कुछ बढ़ोतरी होगी। नए पश्चिमी विक्षोभ के भी सक्रिय हो जाने से तीन चार दिनों सर्द मौसम से राहत मिलने की संभावना कम ही है।

यह भी पढ़ेंः समुद्र में 300 फीट की गहराई में है श्री कृष्ण की द्वारिका

नए पश्चिमी विक्षोभ से देश के उत्तरी इलाकों में पहाड़ों पर बर्फबारी होने की संभावना है। इससे मैदानी इलाकों में बारिश का अनुमान है। नए पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने से हवाओं का रुख फिर बदलेगा। 29 जनवरी से उत्तरी हवाओं के कारण तेज ठंड का दौर फिर शुरू होने का अनुमान है।

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो