12 दिन बाद भी ठग ज्योतिषाचार्य के घर की तलाशी नहीं ले पा रही पुलिस

पुलिस की जांच पर खड़े हो रहे कई तरह के सवाल

ग्वालियर। ज्योतिषाचार्य ठग को गिरफ्तार किए करीब 12 दिन हो चुके हैं, लेकिन अभी तक पुलिस आरपी कॉलोनी स्थित उसके घर की तलाशी नहीं ले सकी है, या फिर कहें मामले में जानबूझकर अनदेखी की जा रही है। यही नहीं ठग के अभी तक बैंक एकांउट भी नहीं खंगाले गए। कुल मिलाकर पुलिस की जांच पर सवाल खड़े होने लगे हैं। पीडि़तों का तो यहां तक कहना है पुलिस ठग की तरफदारी कर रही है। ठग मनोज शर्मा पर एफआइआर के बाद से पुलिस इस मामले में खास दिलचस्पी नहीं ली। पीडि़त ही अपने स्तर पर ठग और उसके परिवार को तलाश करते रहे। उन्हीं ने ठग और उसके परिवार को ढूंढा और गिरफ्तार भी कराया। लेकिन अब भी पुलिस की जांच ढीली है।
ज्योतिषाचार्य ठग मनोज शर्मा उसकी पत्नी वर्षा और बेटी साक्षी को 1 सिंतबर को इंदौर की ड्रीम सिटी से गिरफ्तार किया था। 2 सितंबर को ग्वालियर पुलिस इंदौर पहुंची। 3 सिंतबर को तीनों को ग्वालियर लेकर आ गई। तीनों को कोर्ट में पेश कर 5 दिन का रिमांड लिया गया। पुलिस सैकड़ों किलोमीटर दूर बालाघाट तो चली गई, लेकिन थाने से चंद दूरी पर बने ठग के घर की तलाशी अभी तक नहीं ले सकी। पुलिस सफाई दे रही है कि उसके घर तो गए थे लेकिन ताला लगा मिला। ताले की चाबी न होने से लौटना पड़ा। ठग के कई बैंकों में एकांउट हैं। एक प्राइवेट बैंक से उसने कर्जा भी ले रखा है। लेकिन अब तक पुलिस को इतनी फुर्सत भी नहीं मिली कि उसके बैंक एकांउट खंगालती। इसके अलावा ठग के डिजीटल हस्ताक्षर तरफ भी पुलिस ने कोई ध्यान नहीं दिया। उधर प्रफुल्ल को अभी तक पुलिस नहीं ढृंढ सकी है।
इंदौर से खाली हाथ लौटी पुलिस
ठग मनोज शर्मा को दोबारा रिमांड पर लेने के बाद 10 सितंबर को पुलिस उसे इंदौर लेकर गई थी। पुलिस का कहना है ड्रीम सिटी स्थित घर की तलाशी ली गई, लेकिन वहां सोना नहीं मिला। मालूम हो कि फरियादी सूक्ष्म शर्मा से ठग ने सोना भी ठगा था। पुलिस कह रही है जो रकम ठगी थी उस पैसों से उसने जमीन खरीद ली। कुल मिलाकर इंदौर से पुलिस गुरूवार सुबह खाली हाथ लौटी।

'पुलिस टीम ठग को लेकर इंदौर गई थी। लेकिन वहां कुछ बरामदगी नहीं हो सकी। बरामदगी के लिए उसके घर की तलाशी ली जाएगी। '
प्रशांत यादव, टीआइ पड़ाव थाना

prashant sharma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned