scriptgovernment procurement of wheat in Dhan mandi Sangaria | इस बार मंडी में गेहूं नहीं बेच रहे किसान, जानें इसके पीछे का कारण | Patrika News

इस बार मंडी में गेहूं नहीं बेच रहे किसान, जानें इसके पीछे का कारण

गेहूं की सरकारी खरीद प्रतिवर्ष एक उत्सव की तरह रहता आया है, परंतु इस बार स्थिति ऐसी बन गई है कि जहां धान मंडी में पैदल चलने की राह नहीं मिलती थी वहां अब इक्का दुक्का ढेरियां देखने को मिल रही हैं।

हनुमानगढ़

Published: April 28, 2022 08:48:13 pm

संगरिया. क्षेत्र में गेहूं की सरकारी खरीद प्रतिवर्ष एक उत्सव की तरह रहता आया है, परंतु इस बार स्थिति ऐसी बन गई है कि जहां धान मंडी में पैदल चलने की राह नहीं मिलती थी वहां अब इक्का दुक्का ढेरियां देखने को मिल रही हैं। खाली पड़े स्थान पर मुख्य बाजार की दुकानों की गाड़ियों की पार्किंग लगी हुई है। एक साथ हुए इस बदलाव से जहां बाजार क्षेत्र में निराशा का भाव देखने को मिल रहा है, वहीं इसके पीछे का मूल कारण गेहूं की कम बिजाई व भाव बढ़ने की संभावना को बताया जा रहा है। इस कारण किसान गेहूं बेचने के लिए शहर में लेकर नहीं आ रहा है। पूर्व में अप्रेल का अंतिम सप्ताह चारों ओर ट्रैक्टर ट्राली, श्रमिक व्यापारी किसान की भीड़ व गेहूं के बैग के चट्टों की कतार दिखाई देती थी परंतु इस बार की भाव की तेजी ने सब कुछ बदल कर रख दिया।

कम हुई है बिजाई
उपखण्ड अधिकारी रमेश देव व कृषि विज्ञान केंद्र के डॉ.अनूप कुमार से प्राप्त जानकारी के अनुसार कृषि भूमि में इस बार गेहूं की बिजाई कम हुई है व सरसों के बिजाई क्षेत्र में वृद्धि हुई है। यह एक बड़े बदलाव के रुप में है व एक तिहाई से अधिक किसान तिलहन की ओर बदले है।
government procurement of wheat in Dhan mandi Sangaria
सप्ताह की आवक का आंकड़ा
इस समय जहां प्रतिदिन तीस से चालीस हजार क्विंटल की आवक रहा करती थी, वहीं इतना पूरे सप्ताह में भी नहीं हो पाया है। स्थानीय कृषि उपज मंडी समिति से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस सप्ताह क्षेत्र में गेहूं की 50485 क्विंटल की आवक रही व न्यूनतम अधिकतम भाव 2015 से 2313 रुपए प्रति क्विंटल का रहा। सरसों की आवक 2800 क्विंटल रही व भाव 6435 से सात हजार रुपए प्रति क्विंटल का रहा। इसी प्रकार नरमा की आवक 4813 क्विंटल की रही व भाव 7300 से 11650 रुपए के रहे। जौ की 2320 क्विंटल आवक में भाव 2790 से 3100 रुपए प्रति क्विंटल का रहा। इसके अतिरिक्त चना, ग्वार व मूंग की आवक भी थोड़ी थोड़ी रही।

न्यूनतम समर्थन मूल्य से ऊपर बिक रही सभी जिंस
क्षेत्र में सभी कृषि जिंस वर्तमान में न्यूनतम समर्थन मूल्य से अधिक मूल्य पर बिक रही है जिसके चलते सरकारी खरीद का आंकड़ा शून्य पर चल रहा है। इस बार गेहूं का समर्थन मूल्य 2015 रुपए, सरसों का 5050 रुपए, जौ 1635 रुपए प्रति क्विंटल है।
सरकारी खरीद का पिछले वर्षो का आंकड़ा
क्षेत्र में गेहूं की सरकारी खरीद का आंकड़ा वर्ष दर वर्ष बदलता रहा है परंतु इस बार के आवक के आंकड़े ने पिछले कई वर्षो के प्रभाव को बदल कर रख दिया है। मंडी में वर्ष 2021-22 में 1962142 बैग, वर्ष 2020-21 में 17लाख93हजार, 2019-20 में 12.76लाख, 2018-19 में 13.40लाख, 2017-18 में 10.88 लाख, २०१६-१७ में ११.६०लाख, 2015-16 में 15.27लाख, 2014-15 में 23.66लाख, 2013-14 में 17.97लाख, 2012-13 में 18.45लाख बैग गेहूं की खरीद की गई थी। एक बैग में 50 किलोग्राम की मात्रा रहती है।
बारदाने से लेकर माल उठाने तक की मनुहार
गेहूं की सरकारी खरीद के समय बाजार में व्यापारी व्यापार मंडल पदाधिकारियों व अधिकारियों से बारदाना उपलब्ध करवाने से लेकर माल उठाने तक की मनुहार के लिए दौड़ते नजर आते थे। वर्तमान में क्षेत्र में व्यापार मंडल समिति व फूडग्रेन व्यापार समिति दो संगठन सक्रिय है परंतु गेहूं की निजी खरीद होने से दोनों ही संगठन के पदाधिकारी भाग दौड़ से मुक्त चल रहे है।
भाव का करेंगे इंतजार
कृषक ओमप्रकाश पोटलिया व अरुण पूनियां ने बताया कि समय के साथ किसान नि:संदेह सम्पन्नता की ओर बढा है। बाजार में भाव बढने की संभावना के चलते माल को गोदाम में स्टॉक लगाया गया है जिससे उचित भाव आने पर उन्हे विक्रय किया जा सके। उन्होने बताया कि धन की आवश्यकता के अनुरुप थोड़ा थोड़ा माल ही विक्रय करने की नीति में सभी किसान जुटे हुए है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

कश्मीर में आतंकी हमले में टीवी एक्ट्रेस की मौत, 10 साल के भतीजे पर भी हुई फायरिंगसुरक्षा एजेंसियों ने यासीन मलिक की सजा के बाद जारी किया आतंकी हमले का अलर्टIPL 2022, LSG vs RCB Eliminator Match Result: पाटीदार के दम पर जीता RCB, नॉकआउट मुकाबले में LSG को 14 रनों से हरायाटेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को उम्र कैद की सजा, 10 लाख का जुर्मानायासीन मलिक की सजा से तिलमिलाया पाकिस्तान, PM शहबाज शरीफ, इमरान खान, शाहिद आफरीदी को आई मानवाधिकार की यादAir Force के 4 अधिकारियों की हत्या, पूर्व गृहमंत्री की बेटी का अपहरण सहित इन मामलों में था यासीन मलिक का हाथअमरनाथ यात्रियों को तीन लेयर में मिलेगी सिक्योरिटी, ड्रोन व CCTV कैमरों के जरिए भी रखी जाएगी नजरमहबूबा मुफ्ती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा- आप बता दो कि मुसलमानों के साथ क्या करना चाहते हो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.