यूपी की पहली अत्याधुनिक लैब में टिशू कल्चर विधि से तैयार होगा आलू

सांख्यिकी अधिकारी एएस शर्मा ने बताया कि आलू उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना के लिए शासन में प्रस्ताव भेजा जा चुका है। जल्द ही इसका कार्य शुरू हो जाएगा। साथ ही किसानों को सरलता से बीज मिल जाएगा।

By: Nitish Pandey

Published: 13 Sep 2021, 11:58 AM IST

हापुड़. उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में आलू की खेती काफी मात्रा में की जाती है, लेकिन किसानों को बीज जिले में उपलब्ध नहीं हो पाता है। उन्हें बीज के लिए दूसरे जिलों पर आश्रित रहना पड़ता है। लेकिन अब किसानों को इससे निजात मिल जाएगी। उन्हें ना ही दूसरे जिलों और ना ही निजी संस्थनों पर आश्रित नहीं रहना पड़ेगा। क्योंकि जल्द ही जनपद के बाबूगढ़ के आलू अनुसंधान केंद्र में जल्द ही प्रदेश का पहला आलू उत्कृष्टता केंद्र स्थापित होगा। जानकारी के मुताबिक 8 करोड़ की कीमत से आधुनिक लैब तैयार की जा रही है। जिसका किसानों को पूरा लाभ मिलेगा और उन्हें बीज के लिए इधर-उधर भटकना नहीं होगा।

यह भी पढ़ें : शहीद मेजर मयंक की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब, युवाओं ने लगाए पाक मुर्दाबाद के नारे

किसानों को मिलेगा आधुनिकतम बीज

बता दें कि जल्द ही बाबूगढ़ के आलू अनुसंधान केंद्र में जल्द ही प्रदेश का पहला आलू उत्कृष्टता केंद्र स्थापित होगा। जिसका प्रस्ताव शासन को भेजा जा चुका है। इस लैब में टिशू कल्चर विधि से आलू की विशेष प्रजातियों का बीज तैयार किया जाएगा। जिससे किसानों को नए बीज की किल्लत से निजात मिलेगी। जानकारी के अनुसार आलू उत्कृष्टता केंद्र का समझौता केंद्रीय आलू अनुसंधान संस्थान से होगा। सीपीआरआई से जी-शून्य जनरेशन का ब्रिड लिया जाएगा। इसे विकसित कर जी-3 जनरेशन पर ले जाकर, फाउंडेशन बीज तैयार कराया जाएगा। जो किसान तक पहुंचेगा।

सस्ते दामों पर मिल सकेगा बीज

इस लैब के बन जाने से किसानों को कम समय में अधिक बीज और सस्ते दामों में मिल सकेगा। आलू उत्कृष्टता केंद्र पर बनी टिशू लैब में बेहद डिमांड वाले आलू की प्रजातियों का 15 ग्राम का ब्रिड लाया जाएगा। ट्यूबर विधि से इसका टिशू लेकर ट्रांसप्लांट कराया जाएगा। इसके बाद इसे जी-शून्य, जी-1, जी-2 स्टेप से निकालते हुए जी-3 स्तर पर ले जाया जाएगा।

भेजा जा चुका है शासन में प्रस्ताव- एएस शर्मा

सांख्यिकी अधिकारी एएस शर्मा ने बताया कि आलू उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना के लिए शासन में प्रस्ताव भेजा जा चुका है। जल्द ही इसका कार्य शुरू हो जाएगा। साथ ही किसानों को सरलता से बीज मिल जाएगा।

BY: KP Tripathi

यह भी पढ़ें : Rapid Rail: सबसे खास रहने वाला है गाजियाबाद रैपिड रेल स्टेशन, 5 मंजिला मॉल बनाने की रफ्तार तेज

Nitish Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned