scriptStarted getting wages from innocent son | बाइक की किस्त के लिए पिता ने मासूम के साथ की ऐसी हरकत, रोते-रोते बताई सच्चाई | Patrika News

बाइक की किस्त के लिए पिता ने मासूम के साथ की ऐसी हरकत, रोते-रोते बताई सच्चाई

घर का खर्च और मोटरसाइकिल की किस्त नहीं चुका पा रहा था पिता...।

हरदा

Published: April 21, 2022 06:14:52 pm

हरदा। एक बच्चा बीच सड़क पर रो रहा था। गर्मी से बेहाल था। रास्ते में आते-जाते लोगों ने उससे कारण पूछा, तो उसने रोते-रोते बताया कि मेरे पापा ने मुझे मजदूरी पर भेजा था, मैं वहां काम नहीं करना चाहता हूं। मैं वहां से भागकर आ गया हूं। इतना सुनते ही लोगों ने पुलिस को फोन किया, उसके बाद पुलिस ने मोर्चा संभाला और बच्चे को राहत मिल गई। अब बेटा अपने घर पहुंच गया है।

child.jpg

घर का खर्च ऊपर से मोटरसाइकिल की किस्त का बोझ एक पिता नहीं उठा पाया। उसने अपने 5वीं में पढ़ने वाले बेटे को मजदूरी के लिए झोंक दिया। पढ़ने वाले बच्चे को मजदूरी का काम पसंद नहीं आया और वो मौका देखकर भाग निकला।

बेटा 12 साल का था। पिता मोटरसाइकिल की किस्त का बोझ नहीं सह पा रहा था तो उसने अपने बेटे को एक गडरिया के पास तीन हजार रुपए में मजदूरी के लिए भेज दिया और पैसा एडवांस भी ले लिया। लेकिन, बालक को उनके साथ काम करना अच्छा नहीं लगा और उसने बहाना भगाकर भागना ही उचित समझा। वो शौच का बहाना बनाकर भागने में सफल हो गया। इस दौरान बच्चे को रोता देखकर ग्रामीणों ने डायल को इसकी सूचना दी। जिस पर पुलिसकर्मियों ने पहुंचकर बालक को थाने लेकर आए और चाइल्ड लाइन के सुपुर्द किया।

भेड़ चराने की थी मजदूरी

बाल कल्याण समिति की सदस्य कृष्णा मालवीय ने बताया कि 12 साल का बालक रतलाम जिले के ग्राम बोरदा का रहने वाला है और वह 5वीं कक्षा में पढ़ता है। वहीं पिता मिस्त्री का काम करता है। लेकिन पिता को सीमेंट का काम करने से परेशानी होने से उसने काम बंद कर दिया था। इससे परिवार का पालन-पोषण करने में दिक्कतें आ रही थीं। वहीं उनके द्वारा बाइक किस्त में खरीदी थी, जिसका पैसा जमा करना था। इसलिए पिता ने मवेशी चराने वालों के पास 3 हजार रुपए महीने में उसे काम पर लगा दिया था। पिता ने भेड़ वालों से एडवांस के तौर पर 5 हजार रुपए भी लिए थे।

जब बालक गडरियों के पास काम कर रहा था, अचानक उसने सूझबूझ दिखाई और वो शौच का बहाना करके वहां से भागने में सफल हो गया। भागते-भागते जब वह एक जगह बैठ गया और सड़क पर ही रोने लगा तो राहगीरों ने उससे बात की और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पुलिस ने बालक को चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया।

माता-पिता को दी हिदायत

बुधवार को चाइल्ड लाइन ने बच्चे को बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया। जहां उसके माता-पिता को बुलाकर बात की गई। इसके बाद बालक को उनके सुपुर्द कर दिया गया। समिति ने माता-पिता को हिदायद भी दी कि यदि अपने बच्चे से काम करोगे तो कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

पाकिस्तान ने भेजी है विषकन्या: राजस्थान इंटेलिजेंस ने सेना को तस्वीरें भेज कर किया अलर्टPooja Singhal Case: झारखंड की 6 और बिहार के मुजफ्फरपुर में ED की एक साथ छापेमारी, अहम सुराग मिलने की उम्मीदकर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया का विवादित बयान, 'मैं हिंदू हूं, चाहूं तो बीफ खा सकता हूं..'सबसे आगे मोदी, पीछे से बाइडेन सहित अन्य नेता, QUAD Summit से आई PM मोदी की ये तस्वीर वायरलQUAD Summit: अमरीकी राष्ट्रपति ने उठाया रूस-यूक्रेन युद्ध का मुद्धा, मोदी बोले- कम समय में प्रभावी हुआ क्वाड, लोकतांत्रिक शक्तियों को मिल रही ऊर्जाWhat is IPEF : चीन केंद्रित सप्लाई चैन का विकल्प बनेंगे भारत, अमरीका समेत 13 देशबेरोजगारों के लिए सबसे बड़ी खबर: राजस्थान में अब अधिकांश भर्तियों में नहीं होगा साक्षात्कारMonkeypox Virus sexual Conection : यौन संबंधों की वजह से फैला मंकीपॉक्स - WHO का दावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.