Weight Loss: मोटापे को कम करने वाले खास पांच योगासन

वजन बढऩे के कई कारण हो सकते हैं। इसमें खराब दिनचर्या, असमय और गलत खानपान और हार्मोन संबंधी बीमारियां भी हैं।

By: Hemant Pandey

Published: 24 Apr 2021, 09:29 PM IST

वजन बढऩे के कई कारण हो सकते हैं। इसमें खराब दिनचर्या, असमय और गलत खानपान और हार्मोन संबंधी बीमारियां भी हैं। वेट लॉस सीरीज में आज जानते हैं ऐसे योगासनों के बारे में जिनसे मोटापा को कम कर सकते हैं। कोई भी आसन खाली पेट ही करें। खाने के बाद चार घंटे का अंतर रखें।
1. अग्निसार क्रिया
इस क्रिया में पेट को अंदर बाहर करते हैं। इसे सुबह खाली पेट 250-300 बार तक रोज करें। शौच के बाद का समय अच्छा होता है। इससे पेट की गर्मी से बढ़ती है तो वसा पिघलने लगती है। ध्यान रखें कि पेट के रोगी, पेट की सर्जरी हुई है, कमर में दर्द, अल्सर गर्भवती महिला न करें।
२. उत्तानपादासन
इस आसन को दो-तीन मिनट ही करें। इस मुद्रा में एक मिनट तक शरीर को रोक कर रखें। शुरू में एक मिनट तक नहीं रोक सकते हैं तो उसको टुकड़ों में करें। पेट, पीठ, गर्दन और कमर के रोगी न करें।
३. नौकासन
दो से तीन मिनट तक इसे कर सकते हैं। यह पेट के मसल्स को मजबूत करता और फैट को घटाता है। शुरू में टुकड़ों में करें। पेट, पीठ, गर्दन और कमर के रोगी न करें। कोई भी आसन विशेषज्ञ की सलाह से ही करें।
४. सर्वांगासन
जिन्हें हार्मोन संबंधी रोगों जैसे थायरॉइड, पैराथायरॉइड, पीसीओडी आदि से मोटापा बढ़ा है तो वे इसे करें। हार्मोन ग्रंथियों को सक्रिय करता है। मन शांत रहता है। इसे कम से 5-10 मिनट करें। कमर दर्द, सर्वाइकल, गर्दन में दर्द, बीपी और आंत के रोगी इसे करने से बचें।
५. धनुरासान
इसमें शरीर का पूरा वजन नाभि पर आ जाता है। इससे पेट की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। फैट कम होता है। इसको एक-एक मिनट तक दो-तीन बार ही करें। शुरुआत 20-30 सेकंड से कर सकते हैं। गर्भवती, पेट और कमर के रोगी इसे न करें।

Hemant Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned