scriptDead people get married here in Karnataka: Viral Twitter thread explains how | भारत के इस जिले में मरने के बाद भी घर वाले कराते हैं शादी, वायरल हो रही वीडियो | Patrika News

भारत के इस जिले में मरने के बाद भी घर वाले कराते हैं शादी, वायरल हो रही वीडियो

प्रेत कल्याणम नाम से जाने जानी वाली इस परंपरा में मरे हुए बच्चों की शादी के दौरान वो सभी रसमें निभाई जाती है जो शादी के दौरान की जाती हैं। इस शादी में सगाई से लेकर सात फेरे, कन्यादान और मंगलसूत्र बंधन जैसी परंपराओं का पालन किया जाता है।

नई दिल्ली

Updated: July 31, 2022 08:54:00 pm

भारत में ऐसी बहुत सारी परंपराएं और ज्ञान प्रचलन में थे, जो अब लुप्त हो गए हैं या अब प्रचलन से बाहर हो गए हैं। इन्हीं में से कर्नाटक में दक्षिण कन्नड़ जिले में एक परंपरा आज भी जीवित है, जिसे सुनकर आप हैरान हो जाऐंगे। ये परंपरा है मरने के बाद की जाने वाली शादी। शायद अब आप सोच रहे होंगे की आखिर मरने के बाद कोई शादी कैसे कर सकता है। तो आपको बता दें कि दक्षिण कन्नड़ जिले में यह परंपरा अभी भी जीवित है, जहां दो बच्चों को मरने के बाद उनकी शादी कराई जाती है। हाल ही में गुरुवार को दो मरे हुए बच्चों को शादी के बंधन में बांधा गया है। अब इस परंपरा के पीछे कारण तो जरूर होगा ही, तो चलिए जानते हैं इस शादी के पीछे का रहस्य।
Dead people get married here in Karnataka: Viral Twitter thread explains how
Dead people get married here in Karnataka: Viral Twitter thread explains how
हाल ही में हुई इस शादी की वीडियो को यूट्यूबर एनी अरुण ने ट्विटर पर शेयर किया है। यूट्यूबर ने ट्वीट किया, "मैं आज एक शादी में शामिल हो रहा हूं। अब आप कहेंगे की इसमें ट्वीट करके बताने की क्या बात है। आपको बता दूं कि दुल्हा वास्तव में मर चुका है और दुल्हन भी मर चुकी है। इनकी मौत लगभग 30 साल पहले हुई थी और आज उनकी शादी है। यह उन लोगों को अजीब लग सकता है जो दक्षिण कन्नड़ की परंपराओं के आदी नहीं हैं। लेकिन यह यहां एक गंभीर परंपरा है।"
एनी अरुण ने आगे लिखा, "जिन बच्चों की 18 साल की उम्र से पहले मौत हो जाती है, उनकी मृत्यु के कुछ साल बाद उनकी ही जैसी मृत्यु पाने वाले बच्चों से शादी करा दी जाती है। दक्षिण कन्नड़ में यह परंपराएं चलन में हैं क्योंकि लोग मानते हैं कि उनके प्रियजन की आत्मा भटकती है और उन्हें कभी ‘मोक्ष’ नहीं मिलता है। लोगों का मानना है कि किसी का भी जीवन शादी के बिना अधूरा है और परिवार को भटकती आत्मा से समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।"
उन्होंने आगे लिखा कि शादी के दौरान होने वाली सारी परंपराएं इस शादी में भी निभाई जाती हैं। सगाई से लेकर शादी के बंधन में बंधने तक सारी परंपरा को निभाया जाता है। इस शादी में दूल्हे द्वारा लाई गई 'धारे साड़ी' को दुल्हन को शादी के समय पहनाया जाता है। दुल्हा और दुल्हन को शादी के कपड़े पहनाए जाते हैं और बाकी सारे समारोह और रस्म किए जाते हैं। इस दौरान मुहूर्त देखकर सात फेरे, कन्यादान और मंगलसूत्र का बंधन जैसी सभी परंपराओं का पालन होता है।
शादी के बाद परिवार के सभी लोग नवविवाहितों को आशीर्वाद देते हैं। नवविवाहित बाहर जाकर सभी दिशाओं से देवताओं का आशीर्वाद लेते है। फिर उनका दुल्हा-दुल्हन के रूप में गृह-प्रवेश किया जाता है। अंत में दुल्हन के परिवार अपनी बेटी की जिम्मेदारी दूल्हे के परिवार को सौंप देते हैं। बता दें, ये शादी मरे हुए बच्चों के माता-पिता उनकी आत्माओं की खुशी के लिए करते हैं। इस शादी को 'प्रेत कल्याणम' भी कहा जाता है। आज भी कर्नाटक और केरल के कई हिस्सों में कुछ समुदायों के लोग इस परंपरा को निभाते आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें

बिहार का एक ऐसा गांव जहां 12 घंटे के लिए जंगल चले जाते हैं लोग, जाते वक्त घरों में ताले तक नहीं लगाते

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Independence Day Live Updates : अपनी वीरांगनाओं पर हर भारतवासी को गर्व: PM मोदीIndependent Day पर देशभर के 1082 पुलिस जवानों को मिलेगा पदक, सबसे ज्यादा 125 जम्मू कश्मीर पुलिस कोIndependence Day 2022 : 26 जनवरी और 15 अगस्त के झंडारोहण में क्या फर्क है? जानिए झंडा फहराने के नियम'आजादी के अमृत महोत्सव' के तहत भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती 30 गांवों के विकास के लिए शुरू हुई अनूठी पहलIndependent Day Special: 15 अगस्त भारत ही नहीं इन तीन देशों का भी स्वतंत्रता दिवस, जानिए इनकी कहानीश्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.